ठंड में corona का खतरा बढ़ने की आशंका, ऐसे करें बचाव

0

शैली खत्री

पटना । ठंड ने दस्तक दे दी है। कोरोना का असर बरकरार है। देश के कुछ हिस्सों में संक्रमितों की संख्या जरूर कम हुई है, पर कोरोना का खतरा कायम है। नीति आयोग ने चेतावनी जारी करते हुए ठंड में कोरोना का खतरा बढ़ने और दूसरी लहर आने की बात की है। इसलिए यह जरूरी है कि कोरोना से बचाव के उपायों पर ध्यान दिया जाए।

लंबे समय तक जीवित

वायरस ठंडे मौसम और शुष्क हवाओं में लंबे समय तक जीवित रहते हैं। इसलिए ही कोरोना के बढ़ने की आशंका एक्सपर्ट जता रहे हैं। इन दिनों इम्यूनिटी भी सामान्य दिनों की अपेक्षा कमजोर होती है। वायरस का अटैक आसानी से हो जाता है। सर्दी-खांसी और सांस की बीमारि‍यां होने पर विशेष सावधानी की आवश्यकता होगी। कोराना भी सर्दी-खांसी जैसी ही सांस की बीमारी है। इसके फैलने का खतरा ठंड में बढ़ेगा। इसलिए अभी से ही सावधानी अपनाएं।

सावधानी का दामन थामे रहें

कोरोना से बचाव के लिए हमें तीन शस्त्र के बारे में बताया गया था- दो गज की दूरी, माक्स और हैंडवॉश। इन तीनों का दामन ठंड में भी थामें रहें। बिना जरूरत बाहर नहीं निकलें। भीड़- भाड़ में जाने से बचें। लोगों के बीच जाने से पहले मास्क जरूर पहने। समय-समय पर हाथों को साबुन पानी से धोते रहें या सेनेटाइजर का उपयोग करें। घर को भी बीच –बीच में सेनि‍टाइज करें। साफ- सफाई का पूरा ध्यान रखें।

यह भी याद रखें

ठंड से बचाव के लिए पर्याप्त गर्म कपड़े पहने। पानी गर्म या गुनगुना ही पीएं। लक्षण दिखने पर पैनिक नहीं हों। गाइड लाइन का पालन करते हुए डॉक्टर की सलाह लें। संभव हो तो घर में ही क्‍वारंटाइन होने की व्यवस्था करें। विटामिन डी के लिए धूप का सेवन करें। योग- प्रणायाम करें।

एम्यूनटी करें बुस्ट

कोरोना से बचने के लिए यह जरूरी है कि आपकी इम्यूनिटी ठीक हो। यह आने वाली तेज सर्दी में कोरोना से बचने और उससे लड़ने में आपकी मदद करेगी। डायटीशियन डॉ मीनाक्षी के अनुसार ठंड में इम्यूनिटी बुस्ट करने के लिए खान-पान में बदलाव बेहद जरूरी है। आहार आदतों में बदलाव के साथ ही कुछ विशेष चीजें अपनी डाइट में शामिल करना बेहद जरूरी है।

यह भी याद रखें

लहसुन– लहसुन में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले सारे गुण होते हैं। यह एंटी-वायरस, एंटी-फंगल और एंटी बैक्टेरियल है। सुबह–सुबह खाली पेट लहसुन का उपयोग करें। चाहे तो एक चम्मच शहद के साथ एक कली लहसुन भी लें। लहसुन का पेस्ट या इसका रस भी ले सकते हैं।

तिल-जिंक, आयरन, कैल्शियम, विटामिन और मैग्नेशियम से भरपूर तिल इम्यूनिटी बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनको अपनी डाइट का हिस्सा बना लें। मिठाईयों के अलावे तिल का उपयोग सब्जियों में भी कर सकते हैं।

खजूर-कार्बोहाइट्रेड, मिनरल्स और फाइबर से भरपूर होता है खजूर। इम्यूनिटी बढ़ाने में इससे मदद मिलती है। रोज के खाने में इनका उपयोग जरूर करें।

गुड़-कैल्शियम, फायबर, आयरन, विटामिन से भरा गुड़ सेहत के लिए उपयोगी है। इम्यूनिटी के साथ ही पाचन भी दुरूस्त रखने के लिए गुड़ को अपने भोजन में स्थान दें।

नट्स-नट्स न सिर्फ मुंह का स्वाद बनाते हैं, बल्कि यह पोषण से भरपूर हैं। ठंड में इम्यूनिटी ठीक करने के लिए अपने डेली डाइट में अखरोट, बादाम, मूंगफली जैसे नट्स शामिल करें।

इसके अलावे डेली डाइट में हरी सब्जी और मौसमी फल को स्थान दें। आयुष मंत्रालय द्वारा निर्देशित काढ़े का भी सेवन कर सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.