मानदेय नहीं मिलने से परेशान पारा शिक्षक ने डीसी ऑफिस के बहार किया आत्मदाह का प्रयास

0

दैनिक झारखंड न्यूज

पलामू। पांच साल से मानदेय नहीं मिलने से परेशान छतरपुर न्यू प्राथमिक विद्यालय सहरसवा पूर्वी टोला के पारा शिक्षक अजीत कुमार मंगलवार को करीब एक बजे समाहरणालय गेट के सामने अपने ऊपर केरोसिन छिड़कर आत्मदाह करने का प्रयास किया। मौके पर प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट अरविंद कुमार मिश्रा, डीसी के ओएसडी उत्पाद अधीक्षक सजंय कुमार व चिकित्सक ने बचा लिया। इन सभी ने मिलकर उसके हाथ से केरोसिन का बाेतल छीन लिया। इस दौरान वह फुट-फुट कर रोने लगा। वह कहने लगा डीईओ और डीएसई कार्यालय दौड लगाते-लगाते थक गया, कोई सुनने वाला नहीं है। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी मानदेय रिलीज करने के लिए पूरे मानदेय का आधा पैसा मांग रहें है।

मजिस्ट्रेट के सामने बीईईओ पर पैसा मांगने का आरोप

मजिस्ट्रेट के सामने अजीत कुमार बीईईओ जय कुमार तिवारी पर पैसा मांगने व उसके साथ दुर्व्यहार करने का आरोप लगाया। 17 जून 2018 को उसकी पत्नी पुष्पा कुमारी का निधन इलाज के अभाव में हो गया। वह भी नवसृजित प्राथमिक विद्यालय मनहु में पारा शिक्षक के पद पर कार्यरत थीं। उसने बताया कि 30.07.2018 से विद्यालय में उपस्थिति बनाने पर रोक लगा दिया गया। उस पर आरोप लगाया गया कि उसके चयन का अनुमोदन प्रखंड शिक्षा समिति से नहीं हुआ है। जबकि वह निर्धारित मानदंड के अनुरूप ग्राम शिक्षा समिति से चयनित हुआ है। मौके पर अभिभावक संघ के अध्यक्ष किशोर कुमार पांडेय ने बताया कि अगर पारा शिक्षक का चयन गलत हुआ है। तब इसका मानदेय भुगतान पूर्व में कैसे किया गया और गलत तरीका से चयन करने वाले अधिकारी पर भी अब तक कार्रवाई क्यों नहीं हुई। पारा शिक्षक संघ के नेता ऋषिकांत पाठक ने बताया कि शिक्षा विभाग के उदासीन रवैया के कारण आज यह स्थिति बनी है।

लंबे इंतजार के बाद दिन के 2 बजे पहुंची पुलिस
आत्मदाह की पूर्व सूचना के बाद प्रशासन ने मौके पर फायर ब्रिगेड, चिकित्सक व दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति कर दी थी। मौके पर सभी 11 बजे से ही पहुंच गए। मगर पुलिस की टीम 1:30 बजे तक नहीं पहुंची। पुलिस का इंतजार प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी सह जिला कल्याण पदािधकारी अरविंद कुमार मिश्रा समेत सभी लोग करते रहे। प्रशासन के तरफ से दो बार फोन भी गया। मगर पुलिस आने में काफी विलंब कर दी। करीब 2 बजे पुलिस समाहरणालय पहुंची।

Leave A Reply

Your email address will not be published.