ट्रांसपोर्ट नगर के विरोध में ग्रामीणों ने अंचल कार्यालय में हरबे हथियार के साथ किया प्रदर्शन

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । राज्य सरकार ने कांके अंचल के दुबलिया मौजा के लगभग 39 एकड़ जमीन पर ट्रांसपोर्ट नगर बनाने के लिए जमीन चिन्हित किया है। इसका ग्रामीण विरोध कर रहे हैं। ट्रांसपोर्ट नगर बनाने के विरोध में शुक्रवार को ग्रामीणों ने कांके अंचल कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया।

इस प्रदर्शन में दुबलिया, चुटु, रेंडो, पतरातू, हलदामा, सोसो और संग्रामपुर के सैकड़ों महिला पुरुष हरवे हथियार के शामिल हुए। धरना प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे संदीप उरांव ने बताया कि चयनित दुबलिया मौजा के लगभग 39 एकड़ जमीन के प्‍लॉट (संख्या 1903,1904,1911,1964) ट्रांसपोर्ट नगर के लिए चिन्हित किया है। ये 5वीं अनुसूची के अंतर्गत शत प्रतिशत आदिवासी गांव है। प्रस्तावित जमीन में मसना स्थल, गांवा देवती, देव स्थल और लोहरा समाज का मसना स्थल भी है। परियोजना से पूरे आदिवासी समाज की धार्मिक भावना और आस्था को ठेस पहुंच रही है।

ग्रामीणों ने धरना प्रदर्शन में सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी करते हुए ग्रामीणों ने जान देगें, पर जमीन नहीं देगें, बस अड्डा नहीं बनेगा सहित कई तरह के नारे लगाए। इसे लेकर ग्रामीणों ने राज्यपाल के नाम कांके अंचलाधिकारी अनिल कुमार को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर संदीप उरांव, विमल पहान, एतवा पहान, विक्रम उरांव, सीमा कुजूर, अशोक महतो, बहादुर उरांव, बिनोद उरांव, सुनीता देवी, सीमा कुजूर, दशरथ उरांव, पूजा उरांव सहित अन्य लोगों ने धरना को संबोधित किया। मौके पर नागी उरांव, नौरी देवी, घनश्‍याम उरांव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.