रेलवे को विश्वस्तरीय बनाने पर खर्च होंगे 50 लाख करोड़ रुपए : सुरेश अंगड़ी

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी ने कहा कि झारखंड की जरूरतों पर सरकार का ध्यान है। झारखंड में रेलवे के विकास के लिए सभी संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे। जरूरत के हिसाब से रेल परियोजनाएं दी जाएंगी, ताकि देश के अन्य इलाकों से इसे जोड़ा जा सके। रेल राज्य मंत्री ने कहा कि अगले 12 सालों में रेलवे को अत्याधुनिक और विश्वस्तरीय बनाने पर 50 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इस दिशा में बुलेट ट्रेन शुरू करने की पहल हो चुकी है। उन्होंने कहा कि भारतीय़ रेल के स्वर्णिम दिन की शुरुआत हो चुकी है। वे रविवार को सेल ऑडिटोरियम में आयोजित 64वां राष्ट्रीय रेल पुरस्कार समारोह-2019 में बोल रहे थे।

इस अवसर पर मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रेल मंत्री पीयूष गोयल के कुशल नेतृत्व में भारतीय रेल विकास के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। पिछले पांच सालों में रेलवे में काफी बदलाव आए हैं। न्यू इंडिया के निर्माण की दिशा में भारतीय रेलवे ने कदम बढ़ा दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज भारतीय रेल आधुनिक और विश्वस्तरीय बनने की राह पर चल पड़ा है। इंफ्रास्ट्रक्चर और फैसिलिटीज के मामले में भारतीय रेलवे लगातार आगे बढ़ रहा है।

श्री दास ने कहा कि गर्व की बात है कि भारतीय रेलवे विश्व का सबसे बड़ा नियोक्ता है। रेलवे में आज 13 लाख से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी काम कर रहे हैं। इन्हीं के कार्यों की बदौलत भारतीय रेलवे ने तरक्की हासिल की है। सराहनीय और उत्कृष्ट योगदान करने वालों को सम्मान मिलने से अहसास होता है कि उसने जो कार्य किया है, उसे स्वीकार किया जा रहा है। आगे भी वह उसी लगन और मेहनत से कार्य करता है। भारतीय रेल द्वारा अपने अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित करने की इस परंपरा काबिल-ए-तारीफ है।

मुख्यमंत्री ने रेल राज्य मंत्री की मौजूदगी में कहा कि झारखंड संसाधनों के मामले में देश के सबसे समृद्ध राज्यों में से एक है। भारतीय रेलवे को इस राज्य से सबसे ज्यादा रेवेन्यू मिल रहा है। ऐसे में यह जरूरी है कि झारखंड में रेलवे का विकास हो। मुख्यमंत्री ने जोर दिया कि झारखंड के विकास के लिए और रेल परियोजनाओं मिलनी चाहिए, ताकि यहां के रेल यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा सहूलियत हो सके।

इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास और रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी ने भारतीय रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए आय़ोजित सांस्कृतिक प्रतिस्पर्धाओं के विभिन्न श्रेणियों के विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। ये पुरस्कार क्विज, लाइट एंड वोकल, सोलो डांस, ग्रुप डांस और डॉक्यूमेंट्री श्री में आयोजित प्रतियोगिताओं के लिए दिए गए। इसके साथ यहां लगी प्रदर्शनी में भारतीय रेलवे के विकास की झलक दिखाई गई थी।

64वां राष्ट्रीय रेल पुरस्कार समारोह-2019 में मुख्यमंत्री, रेल राज्य मंत्री के अलावा सांसद संजय सेठ, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव, राज्य सरकार के परिवहन सचिव प्रवीण टोप्पो, रेलवे बोर्ड के सचिव सुशांत कुमार मिश्रा, रेलवे के फाइनांस कमिश्नर विजय कुमार, मेंबर (सिग्नल एंड टेलीकॉम) एन काशीनाथ, मेंबर (स्टाफ) एसएन अग्रवाल, मेंबर (रोलिंग स्टाफ) राजेश अग्रवाल, मेंबर (मैटेरियल्स मैनेजमेंट) वीपी पाठक और दक्षिण-पूर्व रेलवे के जेनरल मैनेजर पीएस मिश्रा समेत देशभर से आए रेलवे के अधिकारी मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.