प्‍लाज्‍मा थेरेपी से झारखंड में शुरू हुआ कोरोना मरीजों का इलाज

0
  • मुख्‍यमंत्री ने प्‍लाज्‍मा दान का किया शुभारंभ
  • डोनरों से प्‍लाज्‍मा दान देने की अपील की

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची । झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के उपाय किए जा रहे हैं। दवाइयों पर रिसर्च चल रहा है। इसी क्रम में प्लाज्मा थेरेपी को लेकर भी एक बात आई थी। इसे लेकर लगातार पूरे देश में लेकर चर्चा हो रही थी। सरकार ने इस बात को संज्ञान में लिया था। संज्ञान के अनुरूप राज्य में प्लाज्मा एकत्रित करने का निर्णय लिया गया था, ताकि जरूरत पड़ी तो तत्काल इसका उपयोग किया जा सके। इसे लेकर आज भी विधिवत रूप से प्लाज्मा एकत्रित करने का कार्यक्रम शुरू हो चुका है। वे 28 जुलाई को रांची स्थित रिम्स में प्लाज्मा दान का शुभारंभ करने के बाद प्रेस से बात कर रहे थे।

चार नौजवानों ने किया डोनेट

मुख्‍यमंत्री ने रिम्‍स के ब्लड बैंक में प्लाजमा डोनर से भी मुलाकात की। यहां 4 नौजवानों ने प्लाज्मा डोनेट किया। सीएम ने इसे काफी, साहसिक और सामाजिक सद्भाव का उदाहरण बताया। उन्‍होंने कहा कि इनके प्लाज्मा से आने वाले समय में निश्चित रूप से लोगों की जान बचाई जा सकती है।

प्‍लामा डोनेट करने का आग्रह

मुख्‍यमंत्री ने कोरोना से ठीक हुए लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने का आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि इस संक्रमण में समाज के सभी वर्ग ने मिलकर जिस तरीके से राज्य के अंदर लोगों को राशन दिया। भोजन कराया। कई सामग्रियां बांटी। आज इस संक्रमण से लड़ने के लिए हमें एक दूसरे का हाथ पकड़ना होगा। इस जंग को जीतना होगा। कोरोनो से ठीक होने वाले किसी भी वर्ग, समुदाय के लोगों से आग्रह करना चाहूंगा कि वे संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में योगदान दें।

ऐतिहासिक कदम बढ़ाया है

श्री सोरेन ने कहा कि इस संक्रमण से लड़ने के लिए सरकार ने ऐतिहासिक कदम बढ़ाया है। राज्य में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर कोई अफरा-तफरी नहीं है। जो भी लोग संक्रमित हो रहे हैं, वे घबराएं नहीं। सरकार सजग है। लोग सहयोग करें, निश्चित रूप से हम मिलकर राज्य में संक्रमण से लड़ने में एक बेहतर उदाहरण पेश करेंगे। वैसे भी देश में संक्रमण से जंग में राज्‍य सरकार ने अलग स्थान बनाया है। लोगों की सेवा करते-करते यहां कई लोग संक्रमित हो चुके हैं। कई लोगों की जान भी चली गई है। एक युवा पुलिसकर्मी मारा गया है।

अन्‍य जगहों पर व्‍यवस्‍था

सीएम ने कहा कि इस संक्रमण में आक्रोशित नहीं हो, बल्कि राज्य के जिम्मेवार व्यक्ति होने का अपना कर्तव्य निर्वहन करें। रिम्स ने पहला कदम उठाया है। कई और मेडिकल कॉलेज हैं। कई और जगह लोग संक्रमित हो रहे हैं। सरकार ऐसी व्यवस्था करने का प्रयास कर रही है कि‍ प्लाज्मा डोनर लोग अपने क्षेत्रों में ही प्लाज्मा डोनेट करें। इस पर आगे विचार करेंगे। इसको और गति देंगे, ताकि हम सभी लोग इस संक्रमण के जंग में हिस्सा लें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.