राज्‍य में बस चलाने की अनुमति : मालिक, चालक, कंडक्‍टर के साथ यात्रियों को करना होगा इन शर्तों का पालन

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । झारखंड सरकार ने बसों को राज्‍य के अंदर चलाने की अनुमति दे दी है। बसों के परिचालन के लिए बस मालिक, ऑपरेटर के साथ-साथ यात्रियों के लिए कई शर्तें तय की गई है। इसका उल्‍लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी। बसों की सीट के हिसाब से यात्रियों की संख्‍या भी तय कर दी गई है। परिवहन विभाग ने सभी यात्री/बस चालक/ मालिकों से शर्तों का पालन करने का आग्रह किया है।

ये हैं चालक और यात्रियों के लिए शर्तें

  • किसी भी Covid Positive व्यक्ति और जिन व्यक्तियों का Covid Test Sample लिया गया है, उन्हें Covid Test Report आने तक यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी।
  • बसों का परिवहन विभाग द्वारा विधिवत निबंधन और निश्चित रूट पर सक्षम प्राधिकार द्वारा परमिट प्राप्‍त होना चाहिए। सक्षम प्राधिकार द्वारा निर्मित परमिट ही बसों के लिए आवागमन पास माना जायेगा।
  • बसें अपने परमिट प्राप्त रूटों पर चलायी जायेगी। परमिट में आवंटित ठहराव स्थल पर ही रूकेगी। इनका पालन नहीं करने से Disaster Management Act एवं MV Act के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
  • यात्रियों को मास्‍क/फेस कवर और ग्लब्‍स लगाना अनिवार्य होगा. परंतु फेस शील्‍ड पहनना सबसे सुरक्षित रहेगा।
  • हाईवे और कंडक्टर के लिए मास्क के साथ फेस शील्ड पहनना अनिवार्य होगा।
  • वाहन में बैठने का समय सभी को Social Distancing का पालन करना अनिवार्य होगा। वाहन रुकने के स्थान पर लोगों को उतरने के समय भी Social Distancing का पालन करना होगा। इसे कंडक्टर सुनिश्चित करेंगे। बसों में प्रवेश के समय थर्मल स्कैनर से यात्रियों के तापमान की जांच की व्यवस्था वाहन चालकों द्वारा की जायेगी। सामान्य से अधिक तापमान वाले व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जायेगी। उन यात्रियों को सलाह दिया जायेगा कि वे अविलंब चिकित्सा परामर्श प्राप्‍त करें।
  • यात्रा के दौरान चालक/यात्रियों द्वारा धूम्रपान/पान/ गुटखा/खैनी खाना प्रतिबंधित रहेगा।
  • यात्रा के दौरान हाथों से अनावश्यक मुंह, और नाक आदि नहीं छुएं। सार्वजनिक स्थानों/बस स्टैंड/टैक्सी स्टैंड में यत्र-तत्र थूकना वर्जित होगा पकड़े जाने पर दंड के भागी होंगे। कानूनी कार्रवाई की जायेगी।
  • यात्री एवं चालकों सें अनुरोध है कि स्मार्ट फोन रहने पर वे आरोग्य से एप nstall करे एवं On रखें।
  • यात्रा करने वाले सभी लोगों से अपील है कि घर पहुंचने पर अपने कपड़े बदलकर उन्हें साफ कर स्‍नान अवश्य करे। कुछ दिनों तक घर के वृद्ध व्यक्तियों/रोगग्रस्त व्यक्तियों से Social Distancing बनाकर रखे, ताकि संक्रमण की आशंका को रोका जा सके।
  • यात्रा के दौरान पानी की उपलब्धता होने पर खाने/पीने के पूर्व अपने हाथ साबुन से घोएं। पानी की उपलब्धता नहीं होने पर सेनिटाइजर से हाथों को सेनिटाइज करें।
  • बसों में स्प्रे सेनिटाइजर रखना होगा। प्रत्येक बार नए यात्री के बैठने के पूर्व सीटों को सेनिटाइज करना होगा। पूरी बस को सोडियम हाइपोक्लोराइड जैसे रसायनों से Disinfect करना होगा।
  • बसों में प्रवेश और निकासी के दरवाजे अलग-अलग रखने होंगे अथवा अलग-अलग दरवाजे नहीं रहने पर निकासी और प्रवेश करने वाले यात्रियों को अलग-अलग समय पर अनुमति देनी होगी, इसे कंडक्टर सुनिश्चित करेंगे।
  • यात्री वाहनों की रेलिंग का उपयोग कम से कम करेंगे। बस कंडक्टर इसका ध्यान रखेंगे। साथ ही, यात्रा के दौरान सामान डिक्की में रखना अनिवार्य होगा।
  • पैसठ (65) वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तिय, अन्य रोगों से ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिला और दस (10) वर्ष से कम आयु के बच्चों को आवश्यक सेवा और स्वास्थ्य प्रयोजनों को छोड़कर, घर पर रहने की सलाह दी जाती है।
  • बसों में सीटों का संख्याकन करना होगा। सीट के अनुरूप ही यात्री, यात्रा कर पायेंगे। सीट के अतिरिक्त एक भी यात्री नहीं लिया जाएगा।
  • बस के चालक को यात्रा कर रहे यात्री की सूचना यात्रा पंजी में दर्ज करनी होगी। उसे सुरक्षित रखना होगा और कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग के लिए प्रशासन द्वारा मांगे जाने पर उपलब्ध कराना होगा।
  • यात्रा करने वाले यात्री बसों का निबंधन संख्या एवं यात्रा की तिथि निश्चित रूप से अपने पास रखेंगे, जिसे Contact Tracing के लिए प्रशासन द्वारा मांगे जाने पर उपलब्ध कराना होगा।
  • बस मालिक रूटवार और तिथिवार ड्राइवरों/सहायकों का नाम और मोबाईल नंबर सुरक्षित रखेंगे। प्रशासन द्वारा मांगे जाने पर Contact Tracing के लिए उपलब्ध करायेंगे।
  • ड्राईवर के केबिन में यात्रियों का प्रवेश नहीं होगा। कोई यात्री उस केबिन में नहीं बैठेंगे। बसों में ड्राईवर का केबिन नहीं रहने पर प्लास्टिक/पर्दे से ड्राईवर केबिन तैयार कर उन्हें यात्रियों के संपर्क से अलग रखना अनिवार्य होगा।

जिला प्रशासन को करना है यह काम

  • वाहनों के परिचालन संबंधी उपरोक्त निर्देश परमिट की शर्तों के पार्ट माने जाएंगे। उल्लंघन की स्थिति में मोटर वाहन अधिनियम के साथ-साथ आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के अधीन संबंधित चालक/वाहन स्वामी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
  • जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा वाहन मालिकों को सड़क सुरक्षा एवं COVID-19 के संक्रमण से बचाव और बरती जाने वाली सावधानियों संबंधी पम्पलेट पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराया जाएगा, जिसका वितरण यात्रियों के बीच किया जाएगा।
  • बस स्टैंडों/टैक्सी स्टैंडों पर एनाउंसमेंट की व्यवस्था करेंगे, जिसके माध्यम से COVID-19 के संक्रमण से बचाव संबंधी उपायों को प्रसारित कराएंगे। लोगों को भीड़ नहीं लगाने, यत्र-तत्र नहीं थूकने, मास्क पहनने आदि की हिदायत भी दी जाएगी।
  • नगर निकायों द्वारा बस स्टैंडों पर आवश्यक साफ-सफाई एवं सेनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • Containment zone में स्थानीय जिला प्रशासन के निर्देशों के अनुरूप कार्य करना होगा। इन क्षेत्रों में वाहनों को रोकना, खाना-पीना एवं अन्य क्रियाओं के साथ घूमना-फिरना प्रतिबंधित रहेगा।
  • ये शर्तें विश्वव्यापी कोरोना संकट से निपटने और कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए है। इनका पालन नहीं करने से Disaster Management Act एवं MV Act के तहत कार्रवाई की जाएगी।

    सीट के हिसाब से यात्र‍ियों की संख्‍या

    बस के प्रकार अधि‍कतम सीट इतनी यात्री होंगे
    बड़ी बसें 52 26
    बस 48 24
    छोटी बस 32 16
    मिनी बस 22 11
    मैक्‍सी कैब/ओमनी बस 12 6
Leave A Reply

Your email address will not be published.