पंचायत सचिव के अभ्‍यर्थियों ने ग्रामीण विकास मंत्री से मिलकर लगाई गुहार

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

राची । ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने 12 अगस्‍त को अपने निजी आवास गुमानी में पंचायत सचि‍व अभ्यर्थियों की समस्या सुनीं। मंत्री ने बताया कि झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा 4913 पंचायत सचिव अभ्यर्थियों की अंतिम मेघा सूची प्रकाशित करने को लेकर सरकार और अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई है। इसमें अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि इसका निष्पादन शीघ्र किया जाए। उन्‍होंने यह भी कहा कि सरकार पंचायत सचिव की नियुक्ति को लेकर गंभीर है। बहुत जल्द इसे निपटा लिया जाएगा। अभ्यर्थी आरती कुमारी, आनंद मिश्र, नतीम कुमार, चंदन कुमार, मदन और अन्य ने उन्‍हें ज्ञापन भी सौंपा। मंत्री ने आश्वासन दिया कि‍ रांची आकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंप देंगे।

जानकारी हो कि सरकार के ही कई विधायक इस मामले में मुख्यमंत्री को पत्र लिख चुके हैं। विधायक सीता सोरेन,  प्रदीप यादव ने पत्र लिखकर अभ्यर्थियों की पीड़ा से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अवगत कराया है। बगोदर विधायक विनोद कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप कर नियुक्ति तत्काल करने का अनुरोध किया है।

पंचायत सचिव अभ्यर्थी रमेश लाल, अनुज कुशवाहा, प्रिंस गुप्ता ने बताया कि झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने 2017 में 3088 पदों के लिए विज्ञापन निकाला। इसमें 6 तरह के पोस्ट थे। दो तरह के पोस्ट जिला स्तर और चार तरह के पोस्ट राज्यस्तर के थे। पंचायत सचिव पद के लिए 50% सीट महिलाओं के लिए आरक्षित की गई थी। इस वेकेंसी के लिए लिखित परीक्षा 21, 28 जनवरी और 4 फरवरी 2018 को हुई।

सफल अभ्यर्थियों की स्किल और टाइपिंग टेस्ट जुलाई, 2019 हुई। उसके बाद इसमें सफल अभ्यर्थियों का डाक्यूमेंट्स वेरीफिकेशन 27 अगस्त से 31 अगस्त और 3 सितंबर से 7 सितंबर, 2019 तक दो पालियों में किया गया। डाक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन के 11 माह बीत जाने के बाद भी फाइनल मेरिट लिस्ट का प्रकाशन नहीं किया गया है। इसको लेकर छात्र लगातार आंदोलनरत है। सरकार से नियुक्ति की लगातार गुहार लगा रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.