प्रशिक्षण के दौरान कृषि की देशज तकनीकी भी जान पाएंगे विद्यार्थी

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि संकाय में सुरेश ज्ञान विहार विश्वविद्यालय, जयपुर (राजस्थान) के छात्र–छात्राओं ग्रामीण कृषि कार्यानुभव कार्यक्रम (रावे) के तहत प्रशिक्षण शुरू हुआ। यह दो महीने तक चलेगा। मौके पर आयोजित कार्यक्रम में डीन एग्रीकल्चर डॉ एमएस यादव ने छात्रों को गांवों में जाकर ग्रामीणों की कृषिगत समस्याओं का गहन अध्ययन और कृषि वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में समस्याओं के निराकरण के विभिन्न पहलुओं से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से छात्रों को ग्रामीणों के आवश्यकता आधारित खेती की नई तकनीक, परंपरागत और देशज तकनीकी को जानने का अवसर मिलेगा।

कार्यक्रम समन्वयक डॉ निभा बाड़ा ने बताया कि इस तरह का कार्यक्रम संकाय के छात्रों के लिए प्रत्येक वर्ष आयोजित किया जाता है। पहली बार दूसरे विश्वविद्यालय के 15 छात्र-छात्राओं को इसका लाभ मिलेगा। मौके पर कार्यक्रम से जुड़े शिक्षकों में डॉ राकेश कुमार, डॉ अरविन्द कुमार, डॉ रविन्द्र प्रसाद, डॉ सीएस महतो, डॉ नेहा पाण्डेय एवं अभिलाषा मिंज ने छात्रों के समक्ष दो माह के कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला।

Leave A Reply

Your email address will not be published.