मानव तस्‍करों की अब खैर नहीं, बच्‍चों की सुरक्षा के लिए आ गये ‘नन्‍हे फरिश्‍ते’

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । मानव तस्‍करों की अब खैर नहीं है। बच्‍चों की सुरक्षा के लिए ‘नन्‍हें फरिश्‍ते‘ आ गये हैं। वे ट्रेन और रेलवे परिसर में मिले गुमशुदा, तस्‍करी के लिए ले जाये जा रहे बच्‍चों की रेस्‍क्‍यू कर उन्‍हें सकुशल घर पहुंचाएंगे। दक्ष‍िण पूर्व रेल मंडलों में नन्हे फरिश्ते दल का गठित कर एक व्‍हाट्एप नंबर जारी किया गया।

कोलकाता स्थित दक्षिण पूर्व रेलवे के महानिरीक्षक सह प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त डीबी कसार ने दक्षिण पूर्व रेलवे के अंतर्गत रांची, आद्रा, चक्रधरपुर और खड़गपुर मंडलों में ‘नन्हे फरिश्ते फेज-II’ के तहत अभियान का शुभारंभ किया। इसके अंतर्गत दक्षिण पूर्व रेलवे में होने वाले बच्चों की तस्करी और शोषण के साथ–साथ  घर से लापता/गुमशुदा एवं अपहरण हुए बच्चे एवं बच्चियों को ट्रेनों तथा रेल परिसर में देखें जाने पर मंडल में कार्यरत ‘नन्हे फरिश्ते’ अभियान के सदस्यों सकुशल उनके परिवारजनों को सुपुर्द करेंगे। गैर सरकारी संगठनों और बाल कल्याण केंद्र एवं सरकारी संस्थाओं की सहायता से पुनर्वास की व्यवस्था करेंगे। बाल अपराध की रोकथाम करना ही इस अभियान का मुख्य उद्देश्य है।

इस अभियान की शुरुआत महानिरीक्षक (दक्षिण पूर्व रेलवे) ने दक्षिण पश्चिम रेलवे में महानिरीक्षक रहने के दौरान 13 मई, 2017 को हुबली (कर्नाटक) से की थी। इसके तहत रेल सुरक्षा बल के अधिकारी और जवानों को इस संबंध में गहन कानूनी जानकारी दी गई। John Cotter formula of change की तकनीक पर कार्य करना प्रारंभ किया। फलस्वरूप बहुत सारे शोषित और अगवा किए गए बच्चों एवं नाबालिग मजदूरों को गलत हाथों में जाने से बचाया गया। कुशल उन्हें उनके परिजनो को सुपूर्द किया गया। कई अनाथ बच्चों के पुनर्वास की व्यवस्था की गई। इस अभियान को नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी, विख्यात उद्योगपति अजीम प्रेमजी और केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सराहा और प्रोत्साहित भी किया। भारतीय वाणिज्यिक एवं औद्योगिक संस्था (FICCI) ने भी अवार्ड से सम्मानित किया गया।

नन्हे फरिश्ते फेज-II की शुरुआत रांची रेल मंडल में भी 20 अगस्त, 2020 से की गयी। मंडल सुरक्षा आयुक्त रांची प्रशांत यादव के नेतृत्व में रेलवे सुरक्षा बल की महिला कर्मियों को रांची मंडल के अभियान दल में सम्मिलित किया गया। इनमें निरीक्षक सीमा रश्मि कुजुर, निरीक्षक सुनिता पन्ना, उप निरीक्षक सुनीता तिर्की, महिला आरक्षी प्रतिमा कुमारी एवं आशा टोप्पो शामिल हैं। उपरोक्त दल को रेलवे सुरक्षा बल अपराध नियमावली अध्याय-10 के तहत कार्रवाई करने का दिशा निर्देश जारी किया गया। इसी प्रकार दपू रेल के अन्य चारों मंडलों में भी नन्हे फरिश्ते दल को गठित कर एक व्‍हाट्सएप समूह नंबर 8709634348 जारी किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.