हेमंत सरकार ने खोला खजाने का ताला, अब इन कार्यों के लिए भी निकाल सकेंगे पैसा

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । हेमंत सरकार ने खजाने का ताला खोज दिया है। कुछ और कार्यों के लिए पैसा निकालने की अनुमति दे दी है। योजना सह वित्‍त विभाग के अपर सचिव अविनाश कुमार सिंह ने 20 जुलाई को इससे संबंधित आदेश जारी किया है। इसमें कहा है कि यह निर्देश अगले आदेश तक प्रभावी रहेंगे।

अपर सचिव ने लिखा है कि COVID-19 महामारी और Lockdown के कारण वित्तीय वर्ष 2020-21 में कोषागार से निकासी के संबंध में दिशा-निर्देश निर्गत हैं। पूर्ण निर्गत व्यय नियंत्री निर्देशों के क्रम में निम्नलिखित राशि की निकासी की अनुमति प्रदान की जाती है। सभी राज्य प्रायोजित योजनाओं के बजटीय उपबंध के निम्नलिखित Unit Hends में राशि की निकासी की जा सकती है

इन मदों में निकासी की मिली छूट

  • प्राथमिक इकाई -अनुरक्षण, मरम्मत एवं सुसज्‍जीकरण (सामाग्री)
  • प्राथमिक इकाई -निर्माण कार्य
  • प्राथमिक इकाई – अन्य व्यय
  • प्राथमिक इकाई -पूंजी परिसम्पति के सृजन के लिए अनुदान
  • प्राथमिक इकाई – सहायता अनुदान सामान्‍य (गैर वेतन)

आदेश में कहा गया है कि उक्त इकाइयों में राशि की निकासी सितंबर 2010 तक वित्तीय वर्ष के लिए किए गए बजटीय उपबंध के 10 प्रतिशत तक की जा सकती है। विभाग अपनी प्राथमिकता के अनुसार उपरोक्त इकाइयों के लिए बजटीय उपबंध का किसी एक इकाई या अधिक इकाईयों का सम्मिलित 10 प्रतिशत तक ही कर सकते है। बजटीय उपबंध की गणना उक्‍त मदों में विभागीय मांग सख्या (Demand Number) के आधार पर की जाएगी।

विभागों से अपेक्षित है कि उस सीमा अंतर्गत अपनी प्राथमिकताओं के आधार पर राशि की निकासी कोषागार, PL खाता, Civil Deposit अथवा Deposit Head के अंतर्गत करना सुनिश्चित सुनिश्चित करते हुए इस संबंध में अपने अधीनस्थ कार्यालयों को निर्देशित करने की कार्रवाई करेंगे। यह निर्देश अगले आदेश तक प्रभावी रहेंगे।

ये है आदेश

Leave A Reply

Your email address will not be published.