सड़क और रेलमार्ग का बिछ रहा जाल, जल और वायु मार्ग का तेजी से हो रहा विस्तार

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची। राज्य में परिवहन सेवाओं को सुगम और बेहतर बनाने के लिए सड़क, रेल, जल और वायु मार्ग के विस्तार और विकास के लिए वर्तमान सरकार प्रतिबद्ध है। पिछले साढ़े चार साल में परिवहन व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए कई परियोजनाएं क्रियान्वित की गई हैं। आने वाले दिनों में कई योजनाओं को धरातल पर उतारने की पहल हो रही है। ये बातें परिवहन विभाग के मंत्री सीपी सिंह ने बुधवार को सूचना भवन में प्रेस से कही। उन्होंने कहा कि सरकार का सड़क सुरक्षा पर भी विशेष जोर है। सड़क दुर्घटनाएं कम से कम हों, इस दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरुक करने के साथ-साथ चिन्हित किए गए 137 ब्लैक स्पॉट को ठीक किया जा रहा है।

गांवों को शहरों से जोड़ने के लिए ग्रामीण बस सेवा शुरू की गई

परिवहन मंत्री ने कहा कि गांवों को शहरों से जोड़ने के लिए ग्रामीण बस सेवा शुरू की गई है। इस सेवा के लिए मात्र एक रुपये का परमिट शुल्क रखा गया है। इसके लिए अबतक 646 मार्ग अधिसूचित किए गए हैं। इसके साथ यात्रियों के आरामदायक सफर के लिए वातानुकुलित द्रुतगामी बस सेवा प्रारंभ की गई है। परिवहन मंत्री ने बताया कि वाहन संचालकों की सहूलियत के लिए सभी परिवहन कार्यालयों को कंप्यूटरीकृत करने के साथ ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन रजिस्ट्रेशन, टैक्स टोकन और परमिट समेत अन्य कार्यों के लिए ऑनलाइन सिस्टम लागू किया गया है। वाहन से होनेवाले प्रदूषण के स्तर को नियंत्रित करने के लिए विभिन्न जिलों में 160 निजी प्रदूषण जांच केंद्र स्थापित किए गए हैं।

रेल परियोजनाओं पर तेजी से हो रहा काम

परिवहन मंत्री ने बताया कि राज्य में रेल परियोजनाओं पर तेजी से काम हो रहा है।  इसके तहत छह रेल परियोजनाओं पर 6,505 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। इसमें  देवघर- दुमका, दुमका-रामपुर हाट, रांची-लोहहदगा- टोरी, कोडरमा-गिरिडीह, कोडरमा-तिलैया और रांची-बरकाकाना—हजारीबाग-कोडरमा रेलमार्ग के कोडरमा-हजारीबाग-बरकाकाना रुट पर रेल परिचालन शुरु हो चुका है। बरकाकाना-रांची रेलमार्ग का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। श्री सिंह ने यह भी बताया कि नामकुम-कांड्रा, गिरिडीह-पारसनाथ-मधुबन, टोरी-चतरा, चितरा-बासुकीनाथ और गोड्डा-पाकुड़ नई रेल परियोजनाओं का काम शीघ्र शुरू होगा। नई रेल परियोजनाओं के लिए झारखंड सरकार और रेल मंत्रालय की ज्वाइंट वेंचर कंपनी बनाई गई है।

हवाई सेवाओं का हो रहा विस्तार

परिवहन मंत्री ने बताया कि राज्य में हवाई सेवाओं के विस्तार के लिए आधारभूत संरचनाओं का तेजी से विकास हो रहा है।  रांची स्थित बिरसा मुंडा हवाई अड्डे के विस्तारीकरण के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य अंतिम चरण में है। देवघर को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वायु मार्ग से जोड़ने के लिए हवाई अड्डा का निर्माण हो रहा है। भारत सरकार की रिजनल कनेक्टिविटी स्कीम के अंतर्गत दुमका, बोकारो और जमशेदपुर से उड़ान सेवा प्रारंभ करने के प्रयास किए जा रहें हैं। राज्य के सात पर्यटक स्थलों पर हेलीपैड बनाया जा रहा है। परिवहन मंत्री ने बताया कि गिरिडीह, धनबाद तथा बोकारो में ग्लाइडिंग प्रशिक्षण केंद्र की शाखा खोली जाएगी। रांची में एरोमॉडलिंग प्रशिक्षण का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।

साहेबगंज में मल्टी मॉडल टर्मिनल का निर्माण अंतिम चरण में

श्री सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा झारखंड में जलमार्ग के विकास पर भी तेजी से काम हो रहा है। इसके तहत साहेबगंज जिले में गंगा नदी पर मल्टी मॉडल टर्मिनल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। जल्द इसका उद्घाटन किया जाएगा। इस परियोजना के अंतर्गत पहले चरण में हल्दिया से वाराणसी और दूसरे चरण में वाराणसी से इलाहाबाद को कनेक्ट किया जाएगा। परिवहन मंत्री ने बताया कि इससे गंगा नदी के किनारे स्थित स्थलों के विकास के साथ रोजगार सृजन और व्यापार को बढ़ावा मिलेगा।

इस अवसर पर परिवहन विभाग के सचिव प्रवीण टोप्पो, परिवहन आयुक्त फैज अक अहमद मुमताज, नागर विमानन विभाग के निदेशक कैप्टन एसपी सिन्हा और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक रामलखन प्रसाद गुप्ता सहित अन्य मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.