दूसरे विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए कृषि संकाय में शिक्षा का अवसर बढ़ाया जायेगा : डीन

0
  • बीएयू में राउरकेला के बॉटनी विषय के छात्रों का समर इंटर्नशिप कार्यक्रम का समापन

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के मृदा विज्ञान एवं कृषि रसायन विभाग में उड़ीसा सरकारी स्वायत्त महाविद्यालय, राउरकेला के बॉटनी विभाग के पीजी छात्रों का 15 दिवसीय समर इंटर्नशिप प्रोग्राम चल रहा था। इसका बुधवार को समापन हुआ। मौके पर डीन एग्रीकल्चर डॉ एमएस यादव ने प्रतिभागी छात्रों को प्रमाण पत्र प्रदान किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बीएयू द्वारा अंतर विश्वविद्यालय शिक्षा में सहयोग को बढ़ावा देने का प्रयास किया जा रहा है। कृषि संकाय के उद्यान, पौधा रोग, कीट विज्ञान, कृषि अर्थशास्त्र एवं कृषि सांख्यकी विभागों के सशक्तिकरण के प्रयास किये जा रहे है। संकाय में उपलब्ध कृषि तकनीकी शिक्षा में दूसरे विश्वविद्यालयों के छात्रों को बीएयू की अनुमति से लघु अवधि के कोर्स में अवसर दिये जायेंगे।

विभाग के अध्यक्ष डॉ डीके शाही ने बताया कि धनबाद, देहरादून और रूड़की के विश्वविद्यालय छात्रों ने भी लघु अवधि के कोर्स में अध्ययन के लिए आवेदन दिया है। विश्वविद्यालय से अनुमति मिलने पर जल्द ही इनके कोर्स प्रारंभ किये जायेंगे। 15 जून से रांची विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए एक कोर्स शुरू किया जा रहा है। दूसरे विश्वविद्यालय के छात्रों के जुड़ने से संकाय सदस्यों को भी नया अनुभव का अवसर मिलता है।

कोर्स की जानकारी देते हुए डॉ बीके अग्रवाल ने बताया कि बॉटनी के ये सभी छात्र पर्यावरण विज्ञान से जुड़े है। समर इंटर्नशिप में छात्र-छात्राओं को मृदा स्वास्थ्य बनाये रखने में मृदा, पौधा और जल की जांच एवं तकनीकों के बारे में बताया गया। इसके तहत छात्रों को पौधा विकास में मिट्टी के महत्त्व, मिटटी की उर्वरा स्थिति की जांच, पौधा विकास में उपयोगी पोषक तत्व, मृदा प्रदूषण, जीवाणु एवं जैव उर्वरक, अजोला की व्यावहारिक तकनीक से अवगत कराया।

इस कोर्स को पूरा करने में संकाय सदस्य डॉ डीके शाही, डॉ बीके अग्रवाल, डॉ अरविन्द कुमार, डॉ आशा सिन्हा, डॉ एसबी कुमार, डॉ एनसी गुप्ता, प्रो देव कुमार, प्रो भूपेन्द्र कुमार एवं प्रो मानस डेग्रे ने सहयोग दिया। धन्यवाद डॉ अरविन्द कुमार ने दी। मौके पर डॉ राकेश कुमार और डॉ पी महापात्र भी मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.