DSE विवाद : वापस ली जाएगी शिक्षकों पर की गई कार्रवाई

0
  • आरडीडीई ने कहा,  पदाधिकारी से शिक्षक को डरने की जरूरत नहीं

दैनिक झारखंड न्‍यूज

रांची । खूंटी के जिला शिक्षा अधीक्षक डॉ महेंद्र पांडेय के खिलाफ लगभग 300 शिक्षकों ने हस्‍ताक्षरयुक्‍त ज्ञापन तत्कालीन उपायुक्त और क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक, दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल को सौंपा था। आरडीडीई ने इसपर संज्ञान लेकर 25 जुलाई को दोनों पक्षों को बुलाया। दोनों को अपनी-अपनी बातें रखने का मौका दिया। शिक्षकों की ओर से एरियल संजय कंडुलना, रवि रमन त्रिपाठी, आभा लकड़ा, कमला रुंडा और सतीश चंद्र ठाकुर ने बातें रखीं।

शिक्षकों ने अपना पक्ष साक्ष्य के साथ प्रस्तुत किया। आरडीडीई से न्याय का गुहार लगाई। शिक्षकों को जिला शिक्षा अधीक्षक के रवैए से निजात दिलाने का आग्रह किया, ताकि वे भयमुक्त वातावरण में अपने दायित्वों को निभा सके। उन्‍होंने कहा कि इस महामारी के भय पूर्ण वातावरण में शिक्षक हर निर्देश का पालन कर रहे हैं। इसके बाद भी निरीक्षण कर शिक्षकों का भयादोहन उचित प्रतीत नहीं होता है।

आरडीडीइ ने जिला शिक्षा अधीक्षक महेंद्र पांडे से कहा कि वे शिक्षा का माहौल बनाएं। भयमुक्त वातावरण बनाएं। पदाधिकारी से किसी शिक्षक को डरने की जरूरत नहीं है। शिक्षक भयमुक्त वातावरण में काम करें। अपनी जिम्मेदारियों को निभाए। शिक्षक एवं पदाधिकारी एक दूसरे का सम्मान करते हुए काम करें। मौके पर अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के राज्य अध्यक्ष विजेंद्र चौबे और मुख्य प्रवक्ता नसीम अहमद ने कहा कि इस कोरोना महामारी में शिक्षक विपरीत परिस्थिति में काम को अंजाम दे रहे हैं। इसके बाद भी शिक्षकों का डीएसइ का वेतन बंद और मर्यादाविहीन व्यवहार करना कहीं से उचित प्रतीत नहीं होता है।

शिक्षक नेताओं ने कहा कि डीएसई अपने व्यवहार और क्रियाकलाप से बजाएं अन्यथा संघ आर-पार की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है। अनूप केसरी, रांची जिला अध्यक्ष सलीम सहाय तिग्गा, कृष्ण शर्मा सहित अन्‍य शिक्षकों ने निर्भीक रूप से पदाधिकारी के समक्ष पक्ष रखने में हौसला बढ़ाया। शिक्षक प्रतिनिधियों ने आशा जताया कि अब पदाधिकारी और शिक्षकों के बीच सारी भ्रांतियां दूर हो जाएंगी। नए सिरे से जिले में शिक्षा के हित में कार्य होगा। जो भी गड़बड़ियां हैं, उसे आरडीडीई द्वारा शीघ्र दूर कर दी जाएंगी। बदले की भावना से कुछ भी काम नहीं होगा। शिक्षकों पर की गई कार्रवाई वापस ले ली जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.