पुलिस ने सुलझाई नाबालिग की हत्‍या की गुत्‍थी, भाई ही निकला हत्‍यारा, बताई ये वजह

0

अरविंद अग्रवाल

पलामू । नाबालिग की हत्‍या की गुत्‍थी पुलिस ने सुलझा ली है। हत्‍यारा उसका भाई ही निकला। जिले के नौडीहा बाजार थाना के सराईडीह गांव निवासी प्रमोद साव का 13 वर्षीय पुत्र 15 अगस्त को शाम 5.30 बजे शौच के लिए छोटकी नदी की तरफ गया था। करीब 1 घंटे तक वापस नहीं आने पर परिजनों ने उसके मोबाइल पर फोन किया। मोबाइल बंद पाया गया। घर वालों ने अपने स्तर से खोजबीन की, परंतु उसका कोई पता नहीं चल सका।

थाना में गुमशुदगी का सनहा दर्ज किया

इस संबंध में प्रमोद साव ने सराईडीह थाना में पुत्र की गुमशुदगी की रिपोर्ट 16 अगस्त को दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस द्वारा छानबीन शुरू की गई। इसी दौरान पुलिस को उक्त बच्चे की साईकिल छोटकी नदी के पास झाड़ी में पायी गई। उस क्षेत्र में पुलिस द्वारा स्थानीय लोगों के सहयोग से सघन जांच पड़ताल की जा रही थी। इसी क्रम में थोड़ी दूर पर गुजूवा स्थित एक निजी पत्थर खदान के पास उक्त बच्चे का शव जमीन में गड़ा मिला। उसकी पहचान प्रमोद साव के 13 वर्षीय पुत्र के रूप में हुई। उक्त शव के देखने से लगा कि उसके सर पर किसी भारी वस्तु से हमला कर उसकी हत्या की गयी है। साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से शव को जमीन में दफना दिया गया है।

मोबाइल लोकेशन से मिली जानकारी

छतरपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शंभू कुमार सिंह ने बताया कि लगातार अनुसंधान के क्रम में पाया गया कि 15 अगस्त को घटना के समय के आस-पास मृतक के मोबाइल नंबर पर मृतक के चचेरे भाई द्वारा कई बार फोन किया गया है। इसके साथ ही, एक अन्य नंबर से भी मृतक के मोबाइल पर कॉल किया गया है। अनुसंधान में जानकारी मिली कि मृतक के चचेरे भाई और उक्त अज्ञात नंबर का मोबाइल का अंतिम लोकेशन घटनास्थल के आस-पास ही है। अनुसंधान के क्रम में मृतक से संबंधित कई लोगों से पूछताछ की गई। संदेह के आधार पर मृतक के चचेरे भाई बिटू कुमार (19 वर्ष) से कड़ाई से पूछताछ की गई। इस दौरान उसके द्वारा हत्‍या की बात स्वीकार की गई।

पैसा को लेकर हुई थी अनबन

बिटू ने बताया कि रक्षाबंधन के अवसर पर मृतक की दुकान से तीन हजार रुपए की राखी बेचने के लिए लिया था, जिसका पैसा बकाया था। इसी पैसे को वापस करने की बात मृतक बोला करता था, जिससे बिटू उससे नाराज था। मृतक और मृतक के पिता की आर्थिक स्थिति अच्छी होने के कारण भी बिटू ईष्या भाव रखता था। इसी को लेकर घटना वाले दिन दोनों के बीच में विवाद हुआ। इसके बाद बिटू ने उसकी हत्‍या कर दी। उसकी निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त मोबाइल, मृतक का चपल और पत्थर जब्‍त किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.