अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार का लाभ दिलाने के लिए किसानों का ई-नैम में कराएं निबंधन

0

आनंद कुमार सोनी

लोहरदगा । जिले के किसानों को बेहतर प्लेटफार्म उपलब्ध कराने के लिए उनका निबंधन ई-नैम में करायें, ताकि उन्हें अंतर्राष्ट्रीय बाजार का लाभ मिल सके। बिचैलियों से उन्हें छुटकारा मिले। किसानों को आत्मा और कृषि विज्ञान केंद्र शिक्षित करें। उक्‍त निर्देश उपायुक्‍त दिलीप कुमार टोप्पो ने दिये। उनकी अध्यक्षता में 27 अगस्‍त को केंद्र सरकार की दो महत्वकांक्षी योजनाएं एफपीओ के गठन और एक लाख करोड़ कृषि आधारभूत संरचना ऋण के द्वारा फार्म गेट पर कृषि आधारभूत संरचना का निर्माण की प्रथम जिला स्तरीय समिति की बैठक आयोजित की गई। दोनों योजनाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी डीडीएम नाबार्ड ने दी।

डीडीएम ने बताया कि वर्ष 2020-21 मे भारत सरकार द्वारा देशभर में 10 हजार करोड़ ऋण बांटने का लक्ष्य है। यह योजना वर्ष 2020-21 से 2029-30 तक संचालित होगी। झारखंड में यह लक्ष्य 1445 करोड़ रुपये है। वहीं वर्ष 2020-21 में जिले मे दो एफपीओ के गठन का भी लक्ष्य है।

उपायुक्त ने जिला सहकारिता पदाधिकारी को आदेश दिया गया कि अगले 15 दिनों के अंदर जिले के सभी लैम्पस का ऑडिट करा लें। कृषि बाजार समिति के सचिव को निर्देश दिया कि जिले के किसानों को बेहतर प्लेटफार्म उपलब्ध कराने के लिए उनका निबंधन ई-नैम में करायें, ताकि उन्हें अंतर्राष्ट्रीय बाजार का लाभ मिल सके। बिचैलियों से उन्हें छुटकारा मिले। किसानों को आत्मा और कृषि विज्ञान केंद्र शिक्षित करें। जिला कृषि पदाधिकारी और बाजार समिति के सचिव को आपस में समन्वय करते हुए बैठक कर किसानों की समस्याओं का हल निकालने का आदेश दिया गया। बैठक में एफपीओ के गठन के लिए सेन्हा और कुड़ू का प्रस्ताव समिति के समक्ष रखा गया।

बैठक में अग्रणी जिला प्रबन्धक रविकांत सिन्हा, जिला कृषि पदाधिकारी शिव कुमार राम, जिला उद्यान पदाधिकारी एमलेन पूर्ति, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला सहकारिता पदाधिकारी जगमनी टोप्पो, जिला मत्स्य पदाधिकारी कामरुज्जमां, कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र नीलम केरकेट्टा, उप परियोजना निदेशक, आत्मा, सचिव, जिला बाजार समिति एवं किसान उत्पादक संगठनो के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.