राजस्‍व वसूली की समीक्षा में अनुपस्थित थे DTO, स्‍पष्‍टीकरण पूछने का निर्देश दिया DC ने

0
  • कृषि बाजार समिति की दुकानों का बढ़ेगा किराया
  • मादक पदार्थों की बिक्रेताओं के खिलाफ करें छापेमारी

आनंद कुमार सोनी

लोहरदगा । राजस्‍व वसूली की समीक्षा में जिला परिवहन पदाधिकारी अनुपस्थित थे। उपायुक्‍त दिलीप कुमार टोप्‍पो ने स्‍पष्‍टीकरण पूछने का निर्देश दिया। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि राजस्व के विभिन्न स्रोतों को मजबूत करें। बालू की अवैध निकासी को रोकें और राजस्व बढ़ायें। हिंडाल्को की बंद खदानों को शुरू करायें। अवैध निकासी, अवैध खनन पर जुर्माना वसूलें। उपायुक्त ने 10 अगस्‍त को विभिन्न विभागों के राजस्व प्राप्त लक्ष्य और उसकी वसूली की स्थिति की समीक्षा की। इस क्रम में सर्वप्रथम खनन विभाग को लक्ष्य के विरूद्ध प्राप्त राजस्व के आलोक में निर्देश दिये।

तालाबों की बंदोबस्ती 20 तक करें

मत्स्य विभाग की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने आदेश दिया कि राजस्व के लिए तालाबों की बंदोबस्ती का कार्य 20 अगस्त तक पूर्ण कर लें।

उत्पाद में लक्ष्‍य से कम राजस्‍व

उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि जुलाई के लक्ष्य 96 लाख के विरूद्ध 75 लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। दो दुकानों की बंदोबस्त नहीं हुई। उपायुक्त ने निर्देश दिया कि विभाग से आदेश प्राप्त होने के बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए दोनों दुकानों की बंदोबस्ती करायें। गांजा और अन्य मादक पदार्थों की बिक्री करनेवालों के खिलाफ छापेमारी अभियान चलायें।

किराया पुनर्निर्धारण के लिए प्रस्ताव भेजें

कृषि बाजार समिति सचिव द्वारा बताया गया कि राजस्व का मुख्य स्रोत दुकानों का किराया है। कुडु में 20, किस्को में 20 और लोहरदगा में 55 दुकान हैं। विगत तीन वर्षों से लक्ष्य 24 लाख ही प्राप्त हो रहा है। कृषि बाजार की दुकानों का किराया भी पुनर्निर्धारण नहीं किया गया है। उपायुक्त द्वारा निर्देश दिया गया कि दुकानों के किराया का पुनर्निर्धारण और लक्ष्य बढ़ाने के लिए बोर्ड को प्रस्ताव भेजें।

बकाया टैक्स वसूली के लिए दें नोटिस

नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि कई भवनों का होल्डिंग टैक्स, वाटर टैक्स बकाया है। इस वजह से राजस्व प्रभावित हो रहा है। उपायुक्त ने आदेश दिया कि टैक्स के बकायेदारों को नोटिस दें। राजस्व वसूली में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं हो। जिला परिवहन पदाधिकारी के बैठक में अनुपस्थित रहने के कारण स्पष्‍टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया।

अन्य विभाग के लिए जरूरी निर्देश

उपायुक्त द्वारा सहकारिता, वाणिज्यकर, विद्युत विभाग,, निबंधन, राजस्व विभाग, राष्ट्रीय बचत आदि की समीक्षा की गई। सभी विभागों को राजस्व वसूली के लिए आवश्यक-निर्देश दिये गये। इस मौके पर अपर समाहर्ता अंजनी कुमार मिश्रा, एलआरडीसी मनीषा तिर्की, जिला मत्स्य पदाधिकारी कमरूज्ज्मां, भू-अर्जन पदाधिकारी महेंद्र कुमार, नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी देवेंद्र कुमार, अवर निबंधक मनोजीत प्रसाद, सहायक निबंधक सहकारिता जगमनी टोप्पो, बाजार समिति के सचिव, सहायक खनन पदाधिकारी भोला हरिजन, अंचल अधिकारी परमेश्वर कुशवाहा, उत्पाद अधीक्षक संजय कुमार श्रीवास्तव, आपदा प्रबंधन पदाधिकारी विभाकर कुमार, राष्ट्रीय बचत के जुनैद अहमद, विद्युत विभाग के सहायक अभियंता व अन्य उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.