कोव‍िड केयर सेंटर के एक कमरे में नहीं रखें पारिवारिक संबंध रखने वालों को

0
  • टेस्ट किट और ट्रूनेट नहीं है उपलब्ध
  • होटल को कोविड केयर सेंटर में चिन्हित

आनंद कुमार सोनी

लोहरदगा । पारिवारिक संबंध रखने वाले व्यक्ति को कोव‍िड केयर सेंटर के एक ही कमरे में नहीं रखा जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि एक कमरे में सिर्फ एक व्यक्ति भी नहीं रहे। अकेले व्यक्ति के रहने से भी दुर्घटना की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। जिले में कंटेनमेंट जोन विस्तार करने के संबंध में 28 जुलाई को हुई बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रियंका मीणा ने उक्‍त निर्देश दि‍ये। बैठक की अध्‍यक्षता उपायुक्‍त दि‍लीप टोप्‍पो ने की।

हर मुहल्‍ले में मामले चिन्‍हि‍त

अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि प्रतिदिन शहरी क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों के प्रायः सभी मुहल्लों में कोविड-19 के सक्रिय मामले चिन्हित हो रहे हैं। संख्या में उत्तरोत्तर वृद्धि हो रही है। ऐसी स्थिति में नगर क्षेत्र के मुख्य जनसंख्या वाले संपूर्ण भाग को कंटेनमेंट जोन घोषित करना आवश्यक है। अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा प्रस्तावित कंटेनमेंट जोन का नजरी नक्शा भी बैठक में प्रस्तुत किया गया। अनुमंडल पदाधिकारी ने प्रस्ताव दिया कि कंटेनमेंट जोन की घोषणा के साथ ही शहरी क्षेत्र में भारी वाहनों का आवागमन बंद रखा जाए।

उल्‍लंघन पर जेल में रखा जाए

अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि नजरी नक्शा में क्षेत्र को चिन्हित करते हुए प्रस्ताव समर्पित करें, ताकि आदेश निर्गत किया जा सके। कंटेनमेंट जोन में लोगों के आवागमन को कड़ाई से पालन कराया जाए। नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों को नियमानुसार पूर्व से घोषित अस्थाई जेल में रखा जा सकता है।

मछली मारने से रोकना जरूरी

जिला नोडल पदाधिकारी ने बताया गया कि शहरी क्षेत्र में स्थित तालाब में लोग मछली मारने के लिए जमा होते हैं। इस स्थिति को रोकना आवश्यक है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कोविड-19 सेंटर के लिए भवन चिन्हित करने की आवश्यकता है। शहर में स्थित होटल को भी कोविड केयर सेंटर के रूप में चिन्हित किया जा सकता है।

हिंडाल्‍को के गेस्‍ट को देखें

उप विकास आयुक्त को निर्देश दिया गया कि वे कोविड केयर सेंटर भवन चिन्हित करते हुए प्रस्ताव तैयार रखें। आवश्यकता अनुसार उक्त भवन को कोविड केयर सेंटर के रूप में घोषित करने की कार्रवाई की जाएगी। ऐसे होटलों को भी चिन्हित किया जाए, जिनका उपयोग किया जा सकता है। हिंडाल्को प्रबंधन के अधीन उपलब्ध गेस्ट हाउस का निरीक्षण करते हुए भवन के उपयोग के लिए चिन्हित रखा जाए, ताकि आवश्यकता अनुसार उपयोग किया जा सके।

टेस्‍ट में वृद्धि करने का निर्देश

नोडल पदाधिकारी को टेस्टिंग में वृद्धि करने का आदेश दि‍या गया। नोडल पदाधिकारी ने बताया गया कि टेस्ट किट और ट्रूनेट उपलब्ध नहीं है। आरटीपीसीआर उपलब्ध है, जिससे टेस्ट किया जा सकता है। विभागीय स्तर पर समन्वय करते हुए इस समस्या से त्वरित निष्पादन के लिए कार्रवाई करने का आदेश दि‍या गया।

आवागम पर नजर रखें

जिले के मजदूरों को दूसरे राज्य जाने के लिए दूसरे राज्य के वाहन की व्यवस्था की गई है। यह स्थिति अच्छी नहीं है। प्रखंड विकास पदाधिकारियों को अपने विभिन्न सूचना तंत्र के माध्यम से इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि उनके क्षेत्र में मजदूर कहां से आ रहे हैं अथवा किस जिले में जा रहे हैं। श्रम अधीक्षक को भी क्षेत्र में अपने अधीनस्थ विभिन्न स्रोतों के माध्यम से जानकारी प्राप्त करने का आदेश  दिया गया।

बैठक में ये भी मौजूद

बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रियंका मीणा, उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा, अपर समाहर्ता अंजनी मिश्र, अनुमंडल पदाधिकारी ज्योति झा, कार्यपालक पदाधिकारी नगर पर्षद, जिला परिवहन पदाधिकारी अमित बेसरा, लोहरदगा प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी राजेश डुंगडुंग, कोविड-19 के जिला नोडल पदाधिकारी डॉ शंभूनाथ चौधरी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.