जमीन कब्‍जा कर घर बना रहे भाजपा नेता, शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं

0

लोहरदगा से आनंद कुमार सोनी

लोहरदगा । एक कहावत है, समरथ को नहीं दोष गोसाई। इन दिनों लोहरदगा में यह कहावत जिला भारतीय जनता पार्टी पर चरितार्थ हो रही है। यहां भाजपा नेताओं की दबंगई जोर-शोर से चल रही है। स्थिति यह है कि पार्टी के पदधारी दूसरी की जमीन पर कब्‍जा करके घर तक बना रहे हैं। शिकायत करने के बाद भी प्रशासन नतमस्‍तक है। इसकी शिकायत मुख्‍यमंत्री से भी की गई है। हालांकि हालांक‍ि भाजपा नेता सारे आरोप को गलत बताते हैं। 

वार्ड नंबर 15 के पार्षद अनिल उरांव भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष भी हैं। उनके द्वारा दबंगई करते हुए दूसरे की खतियानी जमीन पर कब्जा कर मकान बनाने का मामला प्रकाश में आया है। वे सरना टोली निवासी रीनू उरांव की खतियानी जमीन पर कब्जा कर मकान बना रहे हैं। उनकी राजनीतिक पहुंच के आगे शासन प्रशासन के लोग नतमस्तक हो गए हैं। उन्‍हें रोकने वाला कोई नहीं है।

उनके खिलाफ लगातार आवेदन देने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जमीन मालिक रीनू उरांव ने उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर थाने में आवेदन देकर इसकी शिकायत भी की है। हालांकि किसी स्तर पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। विवश होकर रीनू उरांव ने अनुमंडल पदाधिकारी को आवेदन देकर धारा 144 भी लगवाया। इसे ठेंगा दिखकर अनिल उरांव निर्माण कार्य को जारी रखे हुए हैं।

बताया जाता है कि पहुंच के बल पर उन्‍होंने नगर पालिका से प्रधानमंत्री आवास योजना का भी लाभ ले लिया है। रीनू उरांव बताते हैं कि जब भी उन्‍होंने अनिल को रोकने की कोशिश की, वह लड़ाई-झगड़े पर उतर जाता है। फिलहाल रीनू उरांव ने सदर थाना में लिखित शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है।

अनिल ने कहा कि यह उनकी खतियानी जमीन है। साल 1908 से पहले से भी वे यहां रहते चले आ रहे हैं। इस जमीन का सारा कागज उनके पास है। वे अपनी जमीन पर घर बना रहे हैं। आरोप लगाने वाले की जमीन उनके बगल में है। अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा लगाए गए 144 से हटकर मकान बनाया जा रहा है। मेरे वार्ड पार्षद बनने से पहले साल 2015 में मुझे पीएम आवास योजना म‍िली थी। मेरा खपरैल मकान था। हम फार्म भरे थे। तब सरकार ने मंजूरी दी थी। पैसे के अभाव में हम धीरे-धीरे मकान बना रहे हैं। इसपर भी सभी रोक लगा रहे हैं। उन्‍होंने कहा क‍ि प्रशासन हमारी और आरोपी की जमीन का मापकर अलग कर दे।

आरटीआई कार्यकर्ता जिला रिसोर्स पर्सन प्रदीप राणा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में रहकर कोई भी गलत कार्य करता है तो उसे पार्टी से निष्कासित करते हुए कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। ऐसे नेता, जिला अध्यक्ष सह ठेकेदार और पार्टी के नाम पर दबंगई कर रहे लोगों से भाजपा की छवि धूमिल हो रही है। प्रसाशन भी उन्हीं का समर्थन कर रहा है। श्री राणा ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से भी की है। 

Leave A Reply

Your email address will not be published.