शौचालय निर्माण का गड्ढा खोदा स्‍वयं सहायता समूह ने, राशि दे दी जल सहिया को

0
  • पीएचइडी विभाग के कर्मियों पर पैसा के लिए दौड़ाने का आरोप

दैनिक झारखंड न्‍यूज

लातेहार । शौचालय बनाने के लिए स्‍वयं सहायता समूह ने गड्ढा खोदा। पेयजल एवं स्‍वच्‍छता विभाग ने इस काम का पैसा जल सहिया के खाते में ट्रांसफर कर दिया। समूह के सदस्‍यों को पैसा देने के लिए विभाग के कर्मी दौड़ा रहे हैं। इसकी शिकायत समूह के सदस्‍यों ने उपायुक्‍त्‍ से की है। उनसे पैसा दिलाने की गुहार लगाई है।

जिले के चंदवा प्रखंड के निर्मल ग्राम अलौदिया की लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह ने शौचालय निर्माण की राशि समूह के खाते में भेजने को लेकर उपायुक्त को पत्र सौंपा है। पत्र बीडीओ को भी दिया गया है। पत्र में लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह के सदसयों ने कहा है कि अलौदिया में घर-घर सर्वेक्षण कर पूरी पंचायत में के जरूरतमंदों से शौचालय का फार्म भरकर पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के चंदवा के प्रखंड को-ऑडिनेटर विमल उरांव को सौंपा गया था। जुलाई 2019 में 103 और अगस्त 2019 में 138 लोगों की सूची दी गई थी, जो पास होकर सितंबर 2019 में हमलोग को मिला था। इसके बाद पैसा ट्रांसफर करने के लिए हमलोगों से समूह का खाता संख्या मांगा गया। हमलोग ने पासबुक (संख्या 590210110000963) की छाया प्रति दे दी। एक महीने बाद प्रखंड को-ऑडिनेटर द्वारा कहा कि यह खाता संख्या गलत है। दूसरा खाता खोलकर दें। जल्दबाजी में दूसरा खाता (संख्या 590210210000089) खोलकर उन्‍हें दिया गया।

समूह के मुताबिक मार्च, 2020 में मुखिया और पंचायत सेवक द्वारा शौचालय का काम करने को उन्‍हें कहा गया। सदस्‍यों ने कहा कि पहले किये काम का पैसा खाता में नहीं आया है। पैसा आने के बाद काम कराएंगे। इसपर मुखिया और पंचायत सेवक ने कहा कि आप काम कराये। खाता में पैसा डलाना हमारा का काम है। इसके बाद समूह द्वारा लगभग एक सप्ताह काम कराया गया। फिर लॉकडाउन हो गया। इस दौरान समूह की बचत राशि को खाते से निकालकर मजदूरों का भुगतान किया।

सदसयों ने कहा है कि शौचालय निर्माण की राशि समूह के खाते में नहीं डालकर जल सहिया के खाता में भेज दिया गया। इसके पूर्व भी 100 से अधिक शौचालय का पैसा जल सहिया के खाते में भेजा जा चुका है। वह भी कार्य अधूरा है। शौचालय निर्माण के पैसे के लिए समूह की महिलाओं को बार-बार दौड़ाया और परेशान किया जा रहा है। पांच महीने तक राशि का उपयोग नहीं किया गया। यह राशि लक्ष्मी स्वंय सहायता समूह के खाते में भेजी गई होती तो अबतक पूर्ण हो जाता।

समूह ने कहा कि जल सहिया के खाता में मार्च 2020 में ही पैसा आया है, लेकिन अभी तक एक भी शौचालय का काम नहीं हुआ है। दो दिन पहले से जल सहिया द्वारा काम लगाया गया है। ज्ञापन में शौचालय निर्माण के लिए लक्ष्मी स्वंय सहायता समूह के खाते में राशि ट्रांसफर करने का अनुरोध की। पत्र में समूह की अध्यक्ष किरन देवी, सचिव हुलास देवी, कोषाध्यक्ष तारा देवी के हस्ताक्षर हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.