कंफर्म टिकट लेकर स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार करते रहे यात्री, पता करने पर सामने आया चौंकाने वाला तथ्‍य

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

लातेहार । यात्री कंफर्म टिकट लेकर स्‍टेशन पर इंतजार करते रहे। ट्रेन आई ही नहीं। पता करने पर चौंकाने वाला तथ्‍य सामने आया। यह मामला जिले के चंदवा स्थित टोरी स्‍टेशन का है।

जानकारी के मुताबिक टोरी स्टेशन के टिकट आरक्षण कार्यालय से 4 नवंबर को तीन यात्रियों को संबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन में यात्रा के लिए वेटिंग टिकट जारी कि‍या गया। 9 नवंबर रात 12.20 बजे टोरी से यात्रा करनी थी। इसके बाद यात्री 8 नवंबर रविवार को टिकट काउंटर अपना टिकट सीट कंफर्म कराने स्टेशन गए तो वहां मौजूद बुकिंग कलर्क ने कहा कि 9 नवंबर को आए। उस दिन करीब 12 बजे टिकट काउंटर गए तो टिकट बुकिंग कलर्क ने टिकट लेकर सीट को कंफर्म कर दिया।

सीट कंफर्म होने के बाद 9 नवंबर की रात करीब 11.30 बजे अलौदिया निवासी ललन राम, उनकी पत्नी लालसा देवी और मां मदोदर कुंवर टोरी स्टेशन पहुंचकर ट्रेन का इंतजार करने लगे। समय बीतने के बाद भी ट्रेन नहीं पहुंची। यात्री ललन राम ने बताया कि वे अपने परिवार के साथ जरूरी कार्य से जा रहे थे। टोरी स्टेशन से हम पति, पत्नी डेहरी ऑन सोन स्टेशन तक और मां के लिए हैदरनगर स्टेशन का टिकट करवाया था। ट्रेन नहीं आने से उनके परिवार को मायूसी का सामना करना पड़ा। उन्होंने बताया कि जब इस मामले को लेकर उन्होंने ऑन ड्यूटी स्टेशन मास्टर से संपर्क किया, तब उन्होंने रांची और अन्य स्टेशन पर फोन कर जानकारी ली। तब पता चला कि आज ट्रेन नहीं है। टिकट वापस करना चाहा तो बुकिंग काउंटर बंद था। इसके बाद यात्री करीब रात 2.30 बजे घर वापस आ गए।

यात्री ने कहा कि ट्रेन आठ नवंबर की रात 12.20 में ही चली गई थी तो नौ नवंबर को बारह बजे दिन में सीट कंफर्म कराने जाने पर उन्‍हें बता दिया जाता तो परेशानी और आर्थिक नुकसान उठाना नहीं पड़ता। 9 नवंबर की बीती रात ट्रेन जाने की बात टिकट बुकिंग कलर्क ने छिपाई। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के वरिष्ठ नेता अयुब खान ने कहा है कि रेलवे की लापरवाही के कारण इस परिवार को ठंड में परेशान होना पड़ा। आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ा। रेलवे की रात की समय सारणी से यात्री कंफ्यूज हो रहे हैं। बुकिंग कलर्क भी लापरवाही कर रहे हैं। पार्टी ने यात्रि‍यों को परेशान करने वाले बुकिंग कलर्क पर कार्रवाई करने और टिकट की राशि रिफंड कराने की मांग डीआरएम से की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.