विद्यार्थियों के लिए स्‍कूल जाना नहीं है आसां

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

लातेहार । विद्यार्थियों के लिए स्‍कूल जाना आसां नहीं है। हर दिन जान जोखिम में डालकर उन्‍हें टोरी जंक्शन रेलवे लाइन क्रॉस कर जाना आना पड़ता है। टोरी जंक्शन में फ्लाई ओवरब्रिज निर्माण में विलंब की वजह से यह स्थिति बनी है। इससे कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

स्‍थानीय लोगों के मुताबिक टोरी जंक्शन स्टेशन के रेलवे लाइन की दक्षिणी दिशा में सभी कॉलेज, स्कूल हैं। प्रखंड की आधी आबादी रेल लाइन के उतर दिशा में बसी है। बच्चों को पढ़ने के लिए विद्यालय जाने के लिए प्रत्येक दिन रेलवे की पक्षिमी छोर से रेल लाइन पार करना पड़ता है। छात्रा दीपांजली कुमारी, संगीता कुमारी, करि‍श्‍मा कुमारी, सानिया कुमारी, समु कुमारी, छात्र अमरीत कुमार रवि, चंदन कुमार, आकाश कुमार, प्रीतम डे, प्रतीक डे, विवेक भेंगरा सहित अन्य ने बताया कि कभी-कभी मालगाड़ी के नीचे से निकलना पड़ता है।

प्रखंड के प्लस टू हाई स्कूल, गर्ल्‍स हाई, मिशन, मि‍डि‍ल, पुस्तकालय और कई प्राइवेट स्‍कूल के सैंकड़ों विद्यार्थियों को रोज रेलवे लाइन क्रॉस करना पड़ता है। स्थिति तब और विकराल हो जाती है, जब रेल ट्रैक पर कोई ट्रेन खड़ी रहती है। उस समय बच्चे और अभिभावक ट्रेन के नीचे से रेल लाइन पार करते हैं। कई बार लगातार ट्रेन से चलते रहने से परीक्षा भी छूट जाती है। समय पर पहुंचने के चक्‍कर में अप्रिय घटना होने की आशंका बनी रहती है। लाइन पर कई मालगाड़ी खड़ी रहती है। स्कूल जाने और आने के समय कई एक्सप्रेस और अन्‍य ट्रेनें गुजरती है। दस रेल लाइन और व्यस्तम रेल मार्ग होने के कारण छात्र-छात्राओं की मुश्किलें बढ़ी हुई होती है।

स्‍थानीय लोगों ने बताया कि एक फुट ओवरब्रिज है भी तो वह कारगर नहीं है। बाजारटांड़ से हाई स्कूल जाने वाले रास्ते में फुट ओवरब्रिज का निर्माण करने और वर्तमान फुट ब्रिज के विस्तार से कुछ विद्यार्थियों को थोड़ी राहत मिल सकती है।

अभिभावक सबि‍ता देवी, बिगनी देवी, बीगन राम, पुसा मुंडा ने बताया कि बच्चे जान जोखिम में डालकर स्कूल जा रहे हैं। अभिभावकों को भी परेशानी हो रही है। स्कूल के समय और छुट्टी के बाद बच्चों को लाईन पार कराने आना पड़ता है। फ्लाई ओवरब्रिज और फुट ब्रिज नहीं होने से छात्र छात्राओं के साथ-साथ हजारों लोग रेल क्रॉसिंग और रेल लाइन से प्रति दिन बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। इस समस्या के समाधान के लिए सरकार को गंभीर होना चाहिए।

माकपा के वरिष्ठ नेता अयुब खान ने कहा है कि टोरी में स्वीकृत फ्लाई ओवरब्रिज निर्माण में विलंब के लिए चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह जिम्मेदार हैं। सांसद प्रस्तावित टोरी में स्वीकृत फ्लाई ओवरब्रिज के साथ हैं या खिलाफ हैं, उन्हें यह स्पष्ट करना चाहिए। उनकी चुप्पी अफसोसनाक है। टोरी ब्रिज निर्माण में किसी सांसद का बाधक बनना चतरा के लिए इतिहास है। उन्‍होंने कहा कि आम जनता और विद्यार्थियों की समस्या को देखते हुए पार्टी ने कई बार जुझारू आंदोलन किया। रेलवे के वरीय अधिकारियों और राज्यपाल से मिलकर मांग पत्र सौंपा गया था। पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री रघुवर दास, रेल मंत्रालय का ध्यान आकृष्ट कराया गया है। टोरी जंक्शन रेलवे स्टेशन पर फ्लाई ओवरब्रिज, फुट ब्रिज निर्माण, फुट ब्रिज का विस्तार कराने का आग्रह किया जा चुका है। इसके बावजूद भी ब्रिज का निर्माण नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.