केंद्र सरकार की किसान, मजदूर, कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ मनाया भारत बचाओ दिवस

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

लातेहार। किसान संघर्ष को-ऑर्डिनेशन कमेटी के आह्वान पर झारखंड राज्य किसान सभा की लातेहार ईकाई ने केंद्र सरकार की किसान मजदूर, कर्मचारी, विरोधी नीतियों के खिलाफ 9 अगस्‍त को भारत बचाओ दिवस मनाया। उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए किसान सभा के जिला अध्यक्ष अयुब खान ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार आत्मनिर्भर भारत के नाम पर सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों को बेचने, राष्ट्रीयकृत बैंकों को विखंडित कर उसे अपने चहेतों के हवाले करने की साजिश रच रही है। इस राष्ट्र विरोधी कार्रवाई को देश के किसान, मजदूर, कर्मचारी वर्ग बर्दाश्त नहीं करेंगे।

श्री खान ने कहा कि इस वैश्विक महामारी को रोकने में केंद्र सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है। केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज में से किसी को भी कुछ नहीं मिला है। गांव से लेकर शहर तक लोग बेकार बैठे हैं। लोगों का रोजगार छिन गया है। वे आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। लॉकडाउन में आर्थिक संकट झेल रहे आम आदमी को मदद पहुंचाने की जरूरत है। बीजेपी सरकार के इस विनाशकारी आत्मघाती और राष्ट्र विरोधी हथकंडों के खिलाफ एवं भारत बचाने के लिए आज देश के मजदूर, किसान, कर्मचारी सड़क पर हैं।

प्रदर्शन में शामिल लोगों ने संपूर्ण कर्ज से किसानों को मुक्ति देने, फसलों की लागत से डेढ़ गुना दाम देने, बिजली बिल (संशोधन) 2020 को रद्द करने, किसानों के लिए डीजल के रेट आधे करने, खेत मजदूरों -छोटे गरीब किसानों व भूमिहीन ग्रामीण गरीबों को साल में 200 दिन काम देने, लॉकडाउन से प्रभावितों को आर्थिक सहायता देने, प्राकृतिक आपदा से खराब फसलों का मुआवजा देने, कोविड-19 के बढते संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य कर्मी को सुरक्षा प्रदान करने, आयकर के दायरे में नहीं आने वाले सभी व्यक्तियों के बैंक खाते में 7,500 रुपये प्रति माह अगले 6 माह तक भेजने, लॉकडाउन से प्रभावित सभी व्यक्ति को 10 किलो नि:शुल्क अनाज, एक-एक किलो दाल, तेल-चीनी हर महीना उपलब्ध कराने की मांग की। मौके पर हाफिज मोहम्मद इजहार, साहिद खान, जहांगीर खान, असरफुल खान, फिरदोश खान, मोफील खान, रोजन खान, साबीर खान, बब्‍लू उरांव, मो लुकमान, साबीर खान, फहमीदा बीवी सहित अन्य शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.