टाटा स्टील टेक्निकल इंस्टीट्यूट की छात्रा ने ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर लहराया परचम

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

जमशेदपुर । टाटा स्टील टेक्निकल इंस्टीट्यूट (टीएसटीआई) की छात्रा श्‍वेता पवार ने यूथ कैरियर कनेक्ट (आईसीसी), 2020 में परचम लहराया है। महामारी के दौरान युवाओं के परिप्रेक्ष्य को समझने के लिए ‘वाईसीसी एक वैश्विक ऑनलाइन इवेंट है। श्‍वेता ने दो सप्ताह के इस प्रोग्राम में आईसीसी 2020 फ्यूचर स्टार्ट्स स्टार्टअप कंपीटिशन के बेस्ट विजुअल प्रोफाइल कैटेगरी में पहला पुरस्कार जीता।

स्किल-एब्‍लर्स और आईआईटी-दिल्ली एलुमनी एसोसिएशन की मेजबानी में आयोजित यह कंपीटिशन युवाओं के लिए विभिन्न उद्योगों के विशेषज्ञों के साथ रूबरू होने का एक अवसर था, ताकि वे मौजूदा संभावनाओं को बेहतर परिप्रेक्ष्य, रूझान और सलाह हासिल कर सके। इस प्रकार प्रभावकारी कैरियर मार्ग की योजना बनाने में स्वयं सक्षम हो सके।

इस प्रोग्राम ने एक बेहतर कल के लिए मंथन करने और एक सार्थक संवाद विकसित करने के लिए विशेषज्ञ पैनलिस्ट और महत्वकांक्षी और समान-सीच वाले युवाओं को एक साथ आने का मंच प्रदान किया। टीएसटीआई में मेकाट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर रही श्‍वेता ने 360 डिग्री विजुअल प्रोफाइल प्रस्तुत किया।

उसने बताया कि मैंने अपना परिचय देने के लिए एक वीडियो का प्रयोग किया। अपनी हॉबीज को भी विजुअल फॉर्मेट में प्रस्तुत किया। मैंने प्रोजेक्ट का जीवंत विवरण दिया, जिनपर मैंने काम किया है। इसमें एक प्रोजेक्ट वह भी था, जिसमें मैंने रोबोट्स का इस्तेमाल किया है।

कंपीटिशन से पहले इनोवेटिव आइडिया, विकास एवं व्यापार निर्माण में मदद के लिए इनोवेशन और उद्यमिता को आपस में संयोजित करने को लेकर विशेषज्ञों ने व्यापक प्रशिक्षण दिया था।

टीएसटीआई से 180 से अधिक विद्यार्थियों ने इस प्रोग्राम में हिस्सा लिया। इंस्टीट्यूट के प्रिंसिपल ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान ही शैक्षणिक सत्रों की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए कई उपाय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमने अपने सभी विद्यार्थियों को टैब और लैपटॉप दिए हैं। कक्षाएं लगातार चल रही है। हमलोग उन्‍हें शैक्षणिक सामग्रियां भेज रहे हैं और नियमित रूप से टेस्ट भी ले रहे हैं।

जानकारी हो कि टीएसटीआई की स्थापना 2014 में की गयी थी। इसका उद्देश्य तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर बनाना और देश में उद्योग की आवश्यकता को पूरा करना है। टाटा स्टील फाउंडेशन के तत्वावधान में संचालित इस इंस्टीट्यूट ने अपनी स्थापना के समय से ही विद्यार्थियों को सौ-फीसदी प्लेसमेंट प्रदान किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.