JPSC की धांधली : अब तक एक भी दिव्यांग को नहीं लिया आयोग ने

0

सुनील कमल

हजारीबाग । झारखंड लोक सेवा आयोग ने राज्य के विश्वविद्यालयों में पदाधिकारियों की नियुक्ति की। हालांकि अपने स्थापना से अब तक एक भी दिव्यांग को आरक्षण नहीं दिया है। हाल में आयोग ने राज्य के चार विश्वविद्यालय में नियुक्‍त‍ि प्रक्रिया शुरू की है। ये नियुक्ति डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय (रांची), बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय (धनबाद), कोल्हान विश्वविद्यालय (चाईबासा) और नीलाम्बर पीताम्बर विश्वविद्यालय (पलामू) के लिए होनी है। इसके लिए निकाले गये विज्ञापन (संख्या : 03/2020) के अनुसार कुलसचिव, वित्त पदाधिकारी, परीक्षा नियंत्रक, सहायक कुलसचिव पद के लिए नियुक्ति होनी है। इस नियुक्ति में भी दिव्यांगजनों को कोई आरक्षण नहीं दिया गया है।

दिव्यांगजनों को आरक्षण दिये जाने का निर्देश राज्य निःशक्तता आयुक्त सतीश चंद्र ने आयोग को दिया है। उन्‍होंने सरकार के कार्मिक विभाग के संकल्प और अधिनियम को हर हाल में मानने की बात कही है। दिव्यांगजनों को अब तक बैकलॉग की तरह गिनती कर पूरा आरक्षण देने का निर्देश झारखंड उच्च न्यायालय ने भी जनहित याचिका में दिया है। हालांकि इन निर्देशों को आयोग नहीं मान रहा हे। आयोग की उपेक्षा एवं अपने अधिकारों के हनन से दिव्यांग अभ्यर्थी हतप्रभ और दुःखी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.