कला विषय के सहारे यूपीएससी में 114वां रैंक पाया इंजीनियरिंग के छात्र ने

0
  • हजारीबाग के अनुराग द्विवेदी को दूसरे प्रयास में मिली सफलता

सुनील कमल

हजारीबाग । कला विषय के सहारे यूपीएससी की परीक्षा में इंजीनियरिंग के छात्र ने 114वां रैंक हासिल किया है। यह कमाल हजारीबाग के अनुराग द्विवेदी ने कर दिखाया है। दूसरे प्रयास में उसने यह सफलता अर्जित की। अनुराग ने हजारीबाग स्थित संत जेवियर स्कूल से दसवीं की पढ़ाई की है। रांची डीपीएस से 12वीं, आईआईटी कानपुर से बीटेक और एमटेक की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद मनोविज्ञान को मुख्य परीक्षा में चुना एवं अपने गहन अध्ययन के बाद दूसरे प्रयास में सफलता अर्जित की।

अनुराग की इस सफलता ने यह साबित किया कि कला विषय को लेकर इंजीनियर छात्र गहन अध्ययन से सिविल सेवा की परीक्षा में बेहतर रैंक ला सकता है। अनुराग ने उन मिथकों को पीछे छोड़ दिया है, जो मानते हैं कि कोई इंजीनियर छात्र अपनी इंजीनियरिंग के स्कोरिंग पत्र को रख कर सफलताएं अर्जित करता है। अनुराग ने सेल्फ स्टडी पर ज्यादा फोकस किया और सभी पत्रों पर काफी ध्यान दिया।

अनुराग के पिता डॉ राजीव कुमार द्विवेदी हजारीबाग स्थित विनोबा भावे विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर गणित विभाग के अध्यक्ष हैं। माता मीरा द्विवेदी सरस्वती विद्या मंदिर, हजारीबाग की तत्‍कालीन शिक्षिक और वर्तमान में विद्यार्थियों की कैरियर मार्गदर्शिका हैं। इन्‍हें अपनी सफलता का आधार बताते हुए अनुराग कहते है कि बगैर इनके मार्गदर्शन के मेरी सफलता संभव नहीं थी। हर पल पूरे उत्साह के साथ इन्होंने मेरा साथ दिया। अनुराग के बड़े भाई एवं छोटी बहन भी इंजीनियर है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.