हाईकोर्ट से जमानत मिलने के 23 दिन बाद भी जेल से नहीं हुई रिहाई

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

गुमला । झारखंड उच्च न्यायालय से जमानत मिलने और गुमला न्यायालय में सारी औपचारिकताएं पूरी होने के 23 दिन बाद भी रांची के होटवार जेल में बंद गुमला के दो बंदी रिहा नहीं किये जा सके हैं। रघुनाथ लोहरा (डुमरी) और आलोक सुबोध तिर्की (चैनपुर) कारामुक्त होने की बाट जोह रहे हैं। इसे डाक विभाग की लापरवाही कहें या व्यस्‍थागत खामियां। उक्त दोनो बंदियों को गुमला से होटवार जेल में स्थानांतरित किया गया है।

वंदियों के अधिवक्‍ता जीतेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि झारखंड उच्च न्यायालय ने 2 जुलाई, 2020 को ही जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्‍हें जमानत दे दी। इसके बाद 9 जुलाई, 2020 को गुमला न्यायालय से जमानत की सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई। रिहाई आदेश गुमला मंडल कारा को भेजा गया। अगले दिन यानी 10 जुलाई को जेल प्रशासन ने उक्त रिलीज आर्डर को रजिस्ट्री द्वारा होटवार जेल प्रशासन को भेजा गया।  रजिस्ट्री रसीद जेल प्रशासन द्वारा उपलब्ध करायी गयी है। 12 जुलाई को डाक रांची पहुंच भी गया। इसके बाद भी अब तक दोनों बंदी कारामुक्त नही हो पाये हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.