कृषक सलाहकार समिति ने प्रवासी मजदूरों को कृषक का दर्जा देने की मांग उठाई

0

योगेश कुमार पांडेय

गिरि‍डीह । जिले के जमुआ में कृषकों को दो साल से फसल बीमा की राशि नहीं मिल रही है। किसानों को केसीसी देने में बैंककर्मी आना कानी करते हैं। बैंकों में बिचौलियों की चलती है। कृषक मित्र हताश हैं। दो वर्ष से उन्हें प्रोत्साहन राशि नहीं मिल रही है। रेम्बा कृषि फार्म में 24 एकड़ जमीन वर्षों से परती है। उसे कृषकों को खेती करने देना चाहिए। उद्यान विभाग पैक हाउस, डोभा और अन्य योजनाओं को जैसे-तैसे लेन देन करके वितरण कर रहे हैं। उक्त बातें कृषक सलाहकार समिति की बैठक में 4 अगस्‍त को उठी।

समिति के सदस्‍यों ने देर से बीज उपलब्ध कराने पर सरकार के प्रति रोष प्रकट किया गया। तय हुआ कि जो भी और जब भी बीज वितरण हो, कृषक मित्र, मुखिया और पंचायत समिति की मौजूदगी में पारदर्शी तरीके से करें। ताकि सही कृषकों को बीज मिल सके।

तय हुआ कि नवडीहा, प्रतापपुर, जरिडीह, ब्लागों, धुर्गदगी, गोरों, चचघरा, कारोडीह, पाण्डेयडीह, पालमो, फ़तहा, धोयो, कुरहोबिन्दो, बदडीहा, चुंगलखार, तारा, रेम्बा, पोबी, चोरगता, धर्मपुर में प्रत्यक्षण कार्य किया जाएगा। बैठक की अध्यक्षता सुधीर द्विवेदी ने की। बैठक में पंप सेट और कृषि यंत्र को पारदर्शी तरीके से वितरण की बात श्री द्विवेदी ने कही। बैठक में बीएओ अनिल गोस्वामी, सदस्य दशरथ वर्मा, नरेश यादव, रूपलाल दास, रोहित दास, होरिल राय, लक्ष्मण महतो, सच्चिदानंद राय सहित कई लोग थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.