गणेश चतुर्थी पर गणपति बप्पा मोरया की धूम, सिद्धि विनायक की हुई पूजा अर्चना

0

योगेश कुमार पांडेय

गिरि‍डीह । जिले के जमुआ प्रखंड के शानडीह, मिर्जागंज, नवडीहा, रेम्बा, मल्हो सहित अन्य क्षेत्रों में गणेश चतुर्थी पर गणपति बप्‍पा मो‍रया की धूम रही। सिद्धि विनायक, विघ्नहर्ता भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित कर 22 अगस्‍त को वैदिक मंत्रोच्चारण, शंख, करताल, नाल की ध्वनि और गगनभेदी जयकारा के बीच प्राण प्रतिष्ठा की गयी। बच्चें, वृद्ध, नौजवान सभी सामाजिक दूरी का पालन करते हुए गणेश भगवान की भक्ति में लीन थे। गणेश हिंदुओं के आराध्य देव है। सनातन धर्म में गणेश को एक विशिष्ट स्थान प्राप्त है। कोई भी धर्मिक उत्सव, यज्ञ, पूजा, सत्कर्म, विवाहोत्सव के निर्विध्न संपन्न होने के लिए सर्वप्रथम  गणेश की पूजा की जाती हैं।

भाद्रपद मास की चतुर्थी को गणेश उत्सव मनाया जाता है। इसको लेकर अनेक पौराणिक कारण है। जमुआ प्रखंड भगवान गणेश की भक्तिमय हो गया है। रेम्बा में 108 वर्ष से पूजा अर्चना हो रही है। रेम्बा में भव्य मंडप और प्रतिमा मिर्जागंज में कृत्रिम मंडप एवं प्रतिमा आकर्षण का केंद्र बिंदु बनी हुई है। मिर्जागंज में आयोजक समिति द्वारा मास्क का प्रयोग करने का अनुरोध करते हुए वितरण किया गया।

शानडीह में गणेश भक्त शंकर सिंह, मिर्जागंज में गुड्डू साव, मुकेश वर्मा, सुरेश साव, प्रवीण साव, पप्पू साव, गोपू साव, सुमन साव, राकेश साव, धर्मेंद्र साव, रोहित साव आदि मल्हो में बासंती चैती युवा क्लब मल्हो के अध्यक्ष दिनेश साहू, सचिव बाबूलाल कुमार, कोषाध्यक्ष विक्रम गुप्ता, सदस्य जितेंद्र कुमार, पिंटू कुमार, पुरुषोत्तम कुमार, अनुज कुमार, मिथलेश कुमार, विकाश शर्मा, सोनू राणा आयोजन में लगे हैं।

रेम्बा में अध्यक्ष आशीष द्विवेदी, सचिव राधेश्याम द्विवेदी, कोषाध्यक्ष लक्ष्मीकांत, महासचिव अमित आजाद, संयोजक राजशेखर, आचार्य  कन्हैया लाल, विक्रम शास्त्री, समीर कृष्णा, नीरज द्विवेदी सहित अन्य भूमिका निभा रहे हैं। नवडीहा, हीरोडीह, जमुआ थानाध्यक्ष अपने जवानों के साथ मुस्तैद हैं। कोरोना के संक्रमण के मद्देनजर गणेशोत्सव का स्वरूप लघु कर दिया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.