निःशुल्क कानूनी सहायता देने के लिए जिला विधिक सेवाए प्राधिकार कटिबद्ध

0

दैनिक झारखंड न्यूज

गिरिडीह । सभी वर्गों के वंचित, असहाय, निर्बल, निःशक्त व्यक्तियों को निःशुल्क कानूनी सहायता करने के लिए जिला विधिक सेवाए प्राधिकार कटिबद्ध है। विधिक के प्रति आम जनों में जागरूकता, क्रियाशीलता और विभिन्न प्रकार के क्रियान्वित कार्यक्रम का समुचित लाभ और न्याय दिलाना ही डालसा का प्रमुख उद्देश्य है। उक्त बातें बैंक ऑफ इंडिया जमुआ शाखा बीसी सह वीएलई योगेश कुमार पांडेय ने जमुआ प्रखंड के चकमन्जो पंचायत अंतर्गत ग्राम परगोडीह में जिला विधिक सेवाएं प्राधिकार के तत्वावधान में आयोजित विधिक जागरूकता सह असंगठित मजदुरों का पंजीकरण शिविर में ग्रामीणों से कही।

श्री पांडेय ने कहा कि भारतीय संविधान में सभी नागरिकों को मौलिक समान अवसर और अधिकार प्रदत्त है, जिसकी रक्षा विधिक के प्रति जानकारी एवं जागरूकता से ही सम्भव है। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन, आयुष्मान, अटल पेंशन योजना, दुर्घटना, जीवनज्योति बीमा सहित अन्य योजनाओ की जानकारी देकर इसका समुचित लाभ उठाने के लिये ग्रामीणों को प्रोत्साहित किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता पारा लीगल वोलेंटियर सुबोध कुमार साव ने किया। इस अवसर पर असंगठित मजदूरों का पंजीकरण किया गया। उन्हीने स्पॉन्सर सीप, फ़ॉस्टर केयर योजना की जानकारी दी। बताया कि असाध्य रोग से पीड़ित माता पिता के बच्चे, बिल्कुल अनाथ बच्चे व जेल में सज़ायाफ्ता व्यक्ति के दो बच्चों को दो वर्ष तक प्रतिमाह दो हजार परवरिश के लिए डालसा द्वारा सहयोग राशि उपलब्ध करायी जाती है।

बाल विवाह, बाल श्रम, घरेलू हिंसा, दहेज प्रथा, अस्पृश्यता निषेध, डायन प्रथा सहित विभिन्न अधिनियमों की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि इससे पीड़ित व्यक्तियों को हर संभव निःशुल्क कानूनी सेवा उपलब्ध कराया जाता है। उक्त अवसर पर किशुन रजक, छोटन साव, काली साव, सोनू रजक, अमित कुमार, विकास कुमार गुड्डू, जनार्दन राय सहित बुद्धिजीवी, ग्रामीण मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.