दस किलो धान बेचिके एक किलो पियाज किनबो

0
  • एडवांस्‍ड लर्निंग पब्लिक स्कूल में पार्श्वनाथ कवि सम्मेलन का आयोजन

योगेश कुमार पांडेय

गिरिडीह । कोरोना काल के विकट परिस्थिति के बाद शहर में कविता के माध्यम से जीवन में हलचल का संचार हुआ। पार्श्वनाथ महोत्सव कवि सम्मेलन का आयोजन पार्श्व अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय चैरिटेबल ट्रस्ट के तत्‍वावधान में एडवांस्‍ड लर्निंग पब्लिक स्कूल, शीतलपुर में रविवार को किया गया। मुख्य अतिथि गिरिडीह कालेज के हिन्दी विभागाध्यक्ष प्रो बलभद्र थे।

शहर के नामचीन कवि और रचनाकार शंकर पांडे, राजेश पाठक, मो हलीम, परवेज शीतल, विशाल पंडित, व्याख्याता महेश अमन, तुलसी विश्वास, रितेश कुमार, सिकंदर हेमंत, शुक्ला जी, महेश सिंह कवि सम्मेलन में शामिल थे। विशाल पंडित की रचना ‘दिल में हिन्दुस्तान जिंदाबाद लिखना है-पटेल व सुभाष का संवाद लिखना है’ से पूरा सभागार गूंज उठा।

सिकन्दर ‘सौम्य की रणभेरी कविता ‘कर प्रतिकार अनय समर सज जाने दो, तोड़ अहंकार अरि रणभेरी बज जाने दो’ ने सबका मन उर्जा और ओज से भर दिया। कवि सुरेश शौर्य के ‘शून्य’ शीर्षक कविता की भी लोगों ने प्रशंसा की। महेश अमन की खोरठा समसामयिक कविता ‘दस किलो धान बेचिके एक किलो पियाज किनबो’ को लोगो ने बहुत सराहा। मंच संचालन युवा कवि विशाल पंडित ने किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.