बिजली की समस्‍या का नहीं हो पा रहा है समाधान

0

विवेक चौबे

गढ़वा । जिले के कांडी प्रखंड में बिजली की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। बिजली कम देने या कट कर देने के कई बहाने बनाये जा रहे हैं। शुरू से ही यहां बिजली आंख मिचौली करती है। कांडी प्रखंड के लमारी फीडर में 48 घंटे के बाद बिजली सप्लाई शुरू हुई है।

जानकारी के अनुसार गुरुवार को तेज हवा के साथ मूसलाधार बारिश से बीमोड़ व मेराल में 33 हजार वोल्ट के हाई टेंशन तार में फॉल्ट के कारण पूरे जिले में बिजली सप्लाई बाधित हो गई थी। शुक्रवार की शाम पूरे जिले में बिजली सप्लाई होने के बाद भी कांडी सब स्टेशन के लमारी फीडर को बिजली नहीं मिली। बता दें कि प्रखंड में बिजली आपूर्ति को लेकर चार फीडर बनाए गए हैं। कांडी फीडर में केवल कांडी पंचायत, बहेरवा फीडर में घटहुआं पंचायत के एक गांव सहित डुमरसोता, हरिहरपुर व मझिगावां पंचायत व चंद्रपुरा फीडर में पतरिया, सरकोनी व पतीला पंचायत के दो गांव सहित बलियारी पंचायत के दो गांव को जोड़ा गया है। लमारी फीडर में लमारी कला, घटहुआं, चटनियां, खुटहेरिया, राणाडीह, शिवपुर, खरौंधा, गाड़ा खुर्द, बलियारी व पतीला पंचायत के लगभग पांच दर्जन गांवों को जोड़ा गया है।

लमारी फीडर में आए दिन पोल टेढ़ा होने, तार टूटकर गिरने और तार में पेड़ सटने के कारण फॉल्ट होते रहते हैं। फॉल्ट के कारण बिजली कट कर दी जाती है। लमारी फीडर में अधिक गांव होने के कारण ओवर लोड बताकर भी बिजली काट दी जाती है, जबकि अन्य फीडरों में लागातार बिजली सप्लाई होती है। झामुमो के कांडी प्रखंड अध्यक्ष मुन्ना ठाकुर ने बताया कि बिजली विभाग द्वारा लमारी फीडर के साथ किया जा रहा सौतेला व्यवहार कतई ठीक नहीं है। अधिकारियों को कांडी के सभी फीडरों में बराबर गांव जोड़ना चाहिए। यदि लमारी फीडर में गांव को कम नहीं किया गया तो वे शीघ्र ही इसकी शिकायत उपायुक्त से करेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.