छात्र चेतना संगठन ने मुख्यमंत्री से यूरिया की कालाबजारी रोकने की मांग की

0

उपेंद्र गुप्‍ता

दुमका । छात्र चेतना संगठन की सरैयाहाट प्रखंड इकाई ने मुख्यमंत्री से यूरिया की कालाबजारी रोकने और सरकारी दर पर किसानों को इसे उपलब्‍ध कराने की मांग की है। इकाई के सदस्‍यों ने मुख्‍यमंत्री के नाम इस संबंध में सरैयाहाट प्रखंड के अंचलाधिकारी द्वारिका बैठा को ज्ञापन सौंपा। जिला कार्यसमिति सदस्य भोला यादव और प्रखंड कार्यसमिति सदस्य नजरउद्दीन अंसारी के संयुक्त नेतृत्व में सदस्‍यों ने ज्ञापन सौंपा।

पूर्व प्रखंड प्रमुख सरैयाहाट सह जिला कार्यसमिति सदस्य जयकांत यादव ने बताया कि एक ओर पूरा देश वैश्विक महामारी कोरोना जैसे आपदा से लड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर यहां के कुछ पूंजीपति‍, दुकानदारों द्वारा गोदाम में रसायनिक खाद उर्वरक को स्टॉक करके मार्केट में शॉर्टेज की स्थिति उत्पन्न कर दी गई है। इससे यूरिया किसानों को नहीं मिल पा रहा है। सरकार द्वारा निर्धारित दर के आधार पर प्रत्येक 45 किलोग्राम उर्वरक बोरी का मूल्य 266.50 रुपए है। अभी इसे 360 रुपए से लेकर 400 तक प्रति बोरी की दर से बेचा जा रहा है। इससे पूरे प्रखंड के किसान परेशान है।

प्रखंड खेलकूद प्रभारी ओमप्रकाश हेम्‍ब्रम ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान प्रखंड के किसानों द्वारा सब्जी की खेती की गयी थी। फसल नहीं बिकने के कारण खेत में ही नष्ट हो गयी। इसके कारण किसान की आर्थिक स्थिति और भी कमजोर हो गयी। मौके पर उपस्थित प्रखंड कार्यसमिति सदस्य अशोक शर्मा ने बताया कि इस पत्र के माध्यम से संगठन ने जमाखोरों का गोदाम सर्च कर उसे सील करने और किसानों को सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य पर रसायनिक खाद उपलब्ध कराने की मांग की है।

ज्ञापन सौंपने वाले प्रतिनिधिमंडल में प्रखंड सचिव विमल राय, रवि मंडल, प्रखंड कार्यसमिति सदस्य, नगर महासचिव हिमांशु कुमार, चंद्रदीप शर्मा, दीपक कुमार, अब्राहि‍म अंसारी, मनोज राय आदि सहित उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.