बोकारो में नक्‍सली जोनल कमांडर गिरफ्तार, दुमका से भारी मात्रा में ह‍थियार बरामद

0

उपेंद्र गुप्‍ता

दुमका । इनामी नक्सली जोनल कमांडर सहदेव मांझी उर्फ छोटू मांझी की गिरफ्तारी के बाद उसके बयान के आधार पर शिकारीपाड़ा और मसलिया थाना क्षेत्र के जंगलों में छुपाकर कर रखे गए हथियार एवं बारूद बरामद किए गए l दरअसल बोकारो पुलिस ने नक्सली संगठन के एरिया कमांडर और ईनामी नक्सली छोटू मांझी उर्फ सहदेव मांझी उर्फ निशिकांत को बोकारो के टूटी थाना जगेश्वर बिहार से गिरफ्तार किया। इस नक्सली की गिरफ्तारी में बोकारो एसपी और सीआरपीएफ 28वी वाहिनी ने टूटी झरना इलाके से घेराबंदी कर की गई।

नक्‍सली ने पूछताछ में बताया कि संथाल परगना में वह निशिकांत के नाम से जोनल कमांडर की हैसियत से सक्रिय है। उसने बोकारो पुलिस को बताया कि दुमका जिले के शिकारीपाड़ा और मसलिया थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके में भारी संख्या में हथियार छुपाकर रखा है। छोटू मांझी की निशानदेही वाले स्थान पर बोकारो पुलिस और दुमका पुलिस, सीआरपीएफ बटालियन बोकारो, दुमका एसएसबी की 35वी वाहिनी और दुमका पुलिस ने  संयुक्त रूप से  तालाशी ली। भारी मात्रा में मौत का सामान बरामद हुआ।

बरामद हथियार में एक एसएलआर, इंसास रायफल 3, थ्री नट थ्री रायफल एक और कारबाइन रायफल एक पीस बरामद हुआ है। इसके अलावा एसएलआर का 144 चक्र जिंदा कारतूस, इंसास राइफल का 66 चक्र जिंदा कारतूस, थ्री नट थ्री 303 बोर रायफल का 100 जिंदा कारतूस और इंसास रायफल का 47 पीस जिंदा कारतूस बरामद हुआ है। इसके अलावा 1675 डेटोनेटर इलेक्ट्रिक कॉमर्शियल, बड़ी संख्या में मैगजीन चार्जर और मौत का सामान बरामद हुआ है। शिकारीपाड़ा के जंगली और पहाड़ी इलाके में चार हथियार छुपाये हुए थे। मसलिया थाना क्षेत्र के पहाड़ी इलाके में दो हथियार छुपाये गये थे। भारी संख्या में गोली और मैगजीन भी बरामद हुआ है।

गिरफ्तार नक्सली छोटू मांझी पर 50 मामले दर्ज हैं और वह ईनामी भी है। बोकारो एसपी चन्दन कुमार झा ने बताया कि इसकी गिरफ्तारी बड़ी सफलता है। दुमका एसपी अंबर लकड़ा ने बताया कि बोकारो पुलिस ने दुमका पुलिस के लिए बड़ा काम किया है। सीआरपीएफ कमांडेंड नीलांबर ने बताया कि संयुक्त ऑपरेशन आगे भी जारी रहेगा। एसएसबी कमांडेंट एमके पांडेय ने बताया कि नक्सलियों को किसी भी कीमत पर बक्शा नहीं जाएगा। सरेंडर करें नहीं तो गोली खाएं। एएसबी का सीधा यह फरमान है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.