निजी नर्सरी की जगह कृषि विज्ञान केंद्र से पौधों की खरीद करेगी सरकार

0

उपेंद्र गुप्‍ता

दुमका । कृषि मंत्री बादल पत्रलेख की अध्यक्षता में कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग की बैठक 30 जून को हुई। इसमें कृषि मंत्री द्वारा जिले में कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की अद्यतन स्थिति के बारे में विस्तृत चर्चा की गई। योजनाओं से संबंधित जानकारी अधिकारियों से प्राप्त की गई। इस दौरान जिले को जोड़ने वाली सड़क और भी कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की गई।

मंत्री ने कहा कि लोगों को सरकार के कार्यों के अनुरूप पता चलेगा कि सरकार सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित है। जो भी समस्याएं हैं, उन्हें दूर किया जाएगा। बहुत जल्द लोगों को धरातल पर सरकार के कार्य दिखाई देंगे। दो कोल्ड स्टोरेज बनाए जाने के संबंध में निर्देश दिया गया है कि जल्द से जल्द उसके शिलान्यास से संबंधित कार्य किए जाए। कोल्ड स्टोरेज का सामान पहुंच चुका है। जल्द से जल्द जमीन चिन्हित करने का निर्देश दिया गया है।

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि सरकार किसानों के लिए चिंतित है। कृषि को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्य कर रही है। कृषि उत्पाद को बढ़ावा देने के लिए निर्देश दिया गया है। सभी विभाग आपस में समन्वय बनाकर कृषि उत्पाद को बढ़ावा देने के लिए काम करेंगे। आने वाले समय में गव्य विकास से भी लोगों को गाय का वितरण किया जाएगा। ब्लॉक स्तर पर मेला लगा कर लोगों के बीच गाय का वितरण किया जाएगा। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

मछली पालन में भी कई नए प्रयोग कर लोगों को जोड़ा जाएगा। डीएमएफटी फंड को जोड़कर कई नए कार्य किए जाएंगे। बैठक में हॉर्टिकल्चर, एग्रीकल्चर तथा एनिमल हसबेंडरी सभी विषयों पर चर्चा की गई है। दूसरे प्रदेशों में कृषि विभाग द्वारा किए जा रहे हैं अच्छे-अच्छे कार्यों पर भी चर्चा की गई है। कई आवश्यक निर्देश भी दिए गए हैं। प्रवासी श्रमिक जो बाहर से आए हैं, उन्हें सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं में प्राथमिकता देने का निर्देश दिया गया है।

सखी मंडल की महिलाओं द्वारा किए जा रहे कार्यों को अच्छा बाजार मिले, इस संबंध में निर्देश दिए गए। श्री बादल ने कहा कि उनकी समस्याओं को सरकार हर हाल में दूर करेगी। महिलाओं को सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार काम कर रही है। शिलानदा नर्सरी को बेहतर से बेहतर बनाने की कवायद प्रारंभ की गई है। उन्होंने कहा कि जिले के सभी प्रखंडों में हॉर्टिकल्चर से संबंधित एक जमीन चिन्हित की गई है। उक्त भूमि पर सरकार के कार्यों से संबंधित गतिविधियां चालू है। उक्त जमीन पर हॉर्टिकल्चर से संबंधित गतिविधियां जल्द से जल्द प्रारंभ की जाएगी। फलदार वृक्ष लगाए जाएंगे।

मंत्री ने कहा कि मनरेगा के तहत निजी नर्सरि‍यों से बड़ी तादाद में पौधों की खरीदारी की जा रही है। यही कार्य कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा की जाएगी। इससे हमारे किसान मजबूत होंगे। सशक्त होंगे। अधिक से अधिक लाभ स्थानीय लोगों को मिले, ऐसी योजना तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का कार्य कर रही है, जो भी कमियां हैं उसे जल्द से जल्द दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.