रात्रि भत्ते की कटौती पर रोक, रेलवे बोर्ड ने जारी किए आदेश

0
  • रेल कर्मचारियों के परिश्रम को मिला सम्मान: पांडेय

दैनिक झारखंड न्‍यूज

धनबाद । रात्रि भत्ते की कटौती को रोकने के लिए रेलवे बोर्ड ने आदेश जारी कर दिए हैं। यह जानकारी ईसीआरकेयू के अपर महामंत्री डीके पांडेय ने दी। उन्‍होंने बताया कि फेडरेशन की मांग पर रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को अपने आदेश (संख्या-96/2020) में यह उल्लेख किया है कि फेडरेशन की मांग पर रात्रि भत्ते के एरियर की कटौती को रोका जाए। इसके उचित स्पष्टीकरण के लिए भारत सरकार के कार्मिक और प्रशिक्षण मंत्रालय से बातचीत की जाएगी। उन्होंने कहा है कि इस आदेश से यूनियन के सक्रिय सदस्यों के संघर्ष और मेहनतकश रेलकर्मचारियों के परिश्रम को सम्मान मिला है।

ज्ञात हो कि रात्रि भत्ते के एरियर की कटौती का ऑल इंडिया रेलवेमेंस फेडरेशन और उसकी अनुषंगी जोनल यूनियन ईसीआरकेयू ने कड़ा विरोध किया था। पूरे मंडल और जोन में धरना प्रदर्शन किया था। अपर महामंत्री श्री पांडेय ने मंडल रेल प्रबंधक को पत्र लिखकर अनुरोध भी किया था कि इस विषय पर रेलवे बोर्ड से एआईआरएफ की बात चल रही है। निर्णय आने तक फिलहाल इस कटौती को रोक दिया जाए। रेल प्रशासन ने भी इसकी कटौती के लिए सूची जारी कर दी थी। नवंबर माह से दस महीनों में जुलाई 2017 से भुगतान की गई राशि को कर्मचारियों के वेतन से काटने की तैयारी कर लिया था। इस कटौती से मंडल के अधिकांश कर्मचारियों से लाखों रुपए कटौती होने का खतरा बढ़ गया था।

इस आदेश के आने के बाद जहां रेल कर्मचारियों ने राहत की सांस ली है। ईसीआरकेयू के सक्रिय सदस्यों एके दा, एनके खवास, टीके साहू, एके दास, आरके सिंह, तपन विश्वास, संजय सिंह,आरके लकड़ा, विजय कुमार, सुबोध सिंह, परमेश्वर कुमार, सन्नी श्रीवास्तव, विश्वजीत मुखर्जी, इस्लाम अंसारी, राजीव मंडल, मिथिलेश कुमार दास, राजेंद्र कुशवाह ने अपने संघर्ष और आंदोलन की सफलता पर खुशी प्रकट किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.