आपदा को अवसर में बदल रहे हैं बियाडा के उद्यमी, विदेशों में भेज रहे उत्‍पाद

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

बोकारो । कोरोना काल में जीवन बचाते हुए जीविका चलाना बड़ी चुनौती थी। इस दौरान उद्यमियों को कई तरह के संकट झेलने पड़े। इस दौरान केंद्र सरकार की बहुआयामी नीतियों की वजह से भारतीय कं‍पनियां उपलब्धि हासिल करने में भी कामयाब रही।

इस आपदो को कंपनियों ने अवसर में बदल दिया। वे देश के साथ-साथ विदेशों में भी अपने उम्दा उत्पादों के बल पर अच्छा व्यवसाय करने में कामयाब हो रही हैं। बोकारो के बालीडीह औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार (बियाडा) के उद्यमी आपदा को अवसर में बदलने में कामयाब हो रहे हैं।

केंद्र सरकार की नीतियों के अब सकारात्मक परिणाम दिखने लगे हैं। ये लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योगों को अंतरराष्ट्रीय बाजार में स्थापित होने में मददगार साबित हो रहे हैं। MSME की नीतियों का लाभ लेकर बियाडा के मैग्नीज एलॉय बनाने वाली कंपनी श्री भोले एलॉय प्राइवेट लिमिटेड ने आपदा को अवसर में बदल दिया है। इस कंपनी के उत्पाद मैग्नीज एलॉय कोरोना काल जैसे विषम हालात में भी वियतनाम, फिलीपींस और जापान सहित एशिया के कई देशों में निर्यात हो रहे हैं ।

श्री भोले एलॉय के निदेशक राकेश कुमार सिंह ने बताया कि छोटे और मझोले उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए  प्रधानमंत्री द्वारा बनाई गई नीति का उन्होंने लाभ उठाया है। आज उनकी कंपनी अंतरराष्ट्रीय बाजार में फिर से स्थापित हो गयी है, जिसका फायदा कोरोना विपदा काल में कर्मचारियों को भी मिल रहा है।

कंपनी के कर्मचारी भी प्रबंधन द्वारा लॉकडाउन के दौरान की गई मदद की सराहना करते नहीं थकते। कंपनी में कार्यरत सुजाता देवी, दिनेश सिंह और सुबोध नारायण गोस्वामी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान प्रबंधन ने उनकी हर तरह से मदद की।

केंद्र सरकार से आर्थिक मदद और प्रोत्साहन मिलने से देश के उद्यमी आपदा को अवसर में बदलने में कामयाब हो रहे हैं। तालाबंदी की कगार पर खड़े बियाडा के उद्योग भी आज फिर से पुनर्जीवित हो गए हैं। इससे कोरोना काल में जान भी जहान भी का मंत्र आत्मसात होता दिख रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.