देश के 8.5 करोड़ किसानों को प्रधानमंत्री ने 17 हजार करोड़ रुपये किया हस्‍तांतरित

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

नई दिल्‍ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 अगस्‍त को एक लाख करोड़ रुपये की कृषि अवसंरचना निधि के तहत वित्‍त पोषण सुविधा की एक नई योजना आरंभ की है। यह योजना समुदाय कृषक परिसंपत्तियों के निर्माण तथा फसल उपरांत कृषि अवसंरचना में किसानों, पैक्‍स, एफपीओ, कृषि उद्यमियों आदि की सहायता करेगी। ये परिसंपत्तियां उनकी उपज के लिए अधिक मूल्‍य पाने में किसानों को सक्षम बनायेंगी, क्‍योंकि वे उच्‍चतर मूल्‍यों पर भंडारण एवं बिक्री करने, अपव्‍ययों को कम करने तथा प्रसंस्‍करण एवं मूल्‍य वर्धन बढ़ाने में सक्षम हो जायेंगे।

मंत्रिमंडल द्वारा योजना को अनुमोदित किये जाने के केवल 30 दिनों के बाद 2280 से अधिक कृषक सोसाइटियों को 1000 करोड़ रुपये से अधिक की पहली मंजूरी दी गई। इस कार्यक्रम का संचालन वीडियो कांफ्रेंस के जरिये किया गया। इसमें देश भर के लाखों किसानों, एफपीओ, सहकारी संघों, पैक्‍स एवं नागरिकों ने भाग लिया।

इसी कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने लगभग 8.5 करोड़ किसानों को 17,000 करोड़ रुपये की पीएम-किसान योजना के तहत छठीं किस्‍त भी जारी की। नकदी लाभ बटन दबाने के साथ ही आधार प्रमाणित उनके बैंक खातों में सीधा हस्‍तांतरित हो गया। इस हस्‍तांतरण के साथ, इस योजना ने 1 दिसम्‍बर, 2018 को अपनी शुरुआत से 10 करोड़ से अधिक किसानों के हाथों में 90 हजार करोड़ रुपये से अधिक उपलब्‍ध करा दिया है।

योजना के तहत किसानों के खाते में 2-2 हजार रुपये की रकम पहुंच गई। इस स्कीम के तहत अब तक देश के 10 करोड़, 31 लाख, 71 हजार किसानों के बैंक अकाउंट में मदद भेजी जा चुकी है। करीब 75,000 करोड़ रुपये की सीधी सहायता दी जा चुकी है, ताकि छोटे किसानों को खेती में सहायता मिल सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.