इस वजह से आखिरी घंटे में रोकी गई चंद्रयान-2 की लांचिंग

0

दैनिक झारखंड न्‍यूज

नई दिल्‍ली । भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 की लांचिंग तकनीकी कारणों से रोक दी गई। लांच से 56.24 सेकंड पहले चंद्रयान-2 का काउंटडाउन रोक दिया गया है। अगली तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी। चंद्रयान-2 को 15 जुलाई को तड़के 2.51 बजे देश के सबसे ताकतवर बाहुबली रॉकेट जीएसएलवी-एमके 3 से लांच किया जाना था। इसरो वैज्ञानिक ये पता करने की कोशिश कर रहे हैं कि लांच से पहले ये तकनीकी कमी कहां से आई। इसरो प्रवक्ता बीआर गुरुप्रसाद ने इसरो की तरफ से कहा कि जीएसएलवी-एमके 3 लांच व्हीकल (रॉकेट) में खामी आने की वजह से लांचिंग रोक दी गई है। लांचिंग की अगली तारीख जल्द ही घोषित की जाएगी।

लांच से करीब 56.24 मिनट पहले इसरो ने मीडिया सेंटर और विजिटर गैलरी में लाइव स्क्रीनिंग रोक दी गई। कमी देखते ही लांच की प्रक्रिया रोकी गई। इस रुकावट की वजह से इसरो वैज्ञानिकों की 11 साल की मेहनत को छोटा सा झटका लगा है। हालांकि, इसरो वैज्ञानिकों द्वारा अंतिम क्षणों में यह तकनीकी कमी खोज लेना बड़ा कदम है। अगर इस कमी के साथ रॉकेट छूटता तो बड़ा हादसा हो सकता था। यह वैज्ञानिकों की महारत है कि उन्होंने गलती खोज ली है। इसे जल्द ही ठीक करके वे लांच की नई तारीख घोषित करेंगे।

ये हैं संभावित कारण

क्रायोजेनिक इंजन में लिक्विड हाइड्रोजन भरते समय सही तापमान या दबाव का न होना, क्योंकि जिस समय काउंटडाउन रोका गया उससे ठीक पहले लिक्विड हाइड्रोजन भरने का काम पूरा हुआ था।

बाहुबली रॉकेट जीएसएलवी-एमके 3 की बैटरी में दिक्कत हो सकती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.