आज दक्षिण भारत से टकराएगा चक्रवाती तूफान निवार, 300 किमी प्रति घंटा रफ्तार से आगे बढ़ रहा

0

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान निवार तेजी से आगे बढ़ रहा है और आज रात तक इसके दक्षिण भारत से टकराने की आशंका है। मौसम विभाग के मुताबिक, बुधवार सुबह यह 300 किमी प्रति घंटा रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। हालांकि यह पहले कमजोर पड़ा है, लेकिन अभी भी भारी तबाही मचा सकता है। आशंका जताई गई है कि यह उत्तर दिशा की ओर बढ़ रहा है, इसलिए सबसे पहले पुड्डुचेरी तट से टकराएगा। पुडुचुरी के समुद्र तट से सटे इलाके खाली करवा लिए गए हैं। वहीं तमिलनाडु भी अलर्ट पर है। चेन्नई में सुबह भारी बारिश का दौर जारी है। एनडीआरएफ की टीमें तैनात है। राज्य सरकार के साथ ही केंद्र सरकार भी नजर रखे हुए है।

 120 से 130 किमी हो सकती है रफ्तार

मौसम विभाग का अनुमान है कि बुधवार शाम तक निवार तमिलनाडु-पुडुचेरी के तट से टकरा सकता है और उस समय इसकी रफ्तार 120-130 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है। तबाही आशंका के चलते बचाव कार्य के लिए तमिलनाडु, पुडुचेरी तथा आंध्र प्रदेश में 1,200 जवान तैनात कर दिए हैं और 800 जवानों को रिजर्व में रखा है।

पुडुचेरी में सार्वजनिक स्थानों पर लोगों की आवाजाही और जमावड़ा रोकने के लिए मंगलवार रात 9 बजे से गुरुवार सुबह छह बजे तक निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। इस दौरान वहां सभी दुकानें तथा कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। हालांकि यह आदेश कानून-व्यवस्था तथा जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों पर लागू नहीं होगा। चक्रवात के असर से हो रही बारिश के कारण चेन्नई में सड़कों पर पानी भरने से जगह-जगह यातायात जाम होता रहा। अन्ना सलाई, जीएसटी रोड तथा काठीपाड़ा जंक्शन पर ज्यादा जाम देखा गया। इसके फोटो इंटरनेट मीडिया पर भी खूब चले।

निवार यानी रोकथाम

बंगाल की खाड़ी में उठे निवार चक्रवात का नाम इस बार ईरान ने रखा है, जिसका अर्थ है-रोकथाम। इसी साल जारी सूची में से इस्तेमाल किया जाने वाला यह तीसरा नाम है। नवंबर में आए तूफान गति का नामकरण भारत ने किया था। इसी प्रकार मई में आए तूफान एम्फन का नाम थाइलैंड ने किया था।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.