करवा चौथ पर 5 साल बाद बना है ये शुभ योग, सूर्य देव की भी होगी कृपा, जाने इसकी खास बातें

0

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची इस वर्ष महिलाओं का महापर्व करवा चौथ कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि 24 अक्टूबर रविवार यानी आज है। करवा चौथ पर वृषभ राशि में रहेगी। रोहिणी नक्षत्र रहेगा ज्योतिषाचार्य डॉ पंडित गणेश शर्मा के मुताबिक इस वर्ष वरियान योग 5 वर्ष बाद बन रहा है। इस दिन रविवार का दिन होने से सूर्य देवता की कृपा भी महिलाओं को मिलेगी।

यह योग महिलाओं के लिए लाभकारी वा मंगलदायक रहेगा

चांद निकलने का समय रात्रि 08.11 मिनट रहेगा। यह योग महिलाओं के लिए लाभकारी वा मंगलदायक रहेगा। करवा चौथ के दिन महिलाएं निर्जला व्रत रखती है। यह व्रत सुख समृद्धि और पति की लंबी आयु के लिए होता है। औरतें रात को चंद्रमा की पूजा दर्शन के बाद तथा पति का चेहरा देखकर अपना व्रत खोलती है। सुहागिन स्त्रियों को भूरा रंग, काला रंग व सफेद रंग के वस्त्रो से परहेज व लाल, गुलाबी, पीला, हरा और महरून रंग के वस्त्र और शादी का जोड़ा धारण करना सबसे शुभ है।

ज्‍योतिष ने बताया कि इस व्रत को सुहागिन महिलाओं के अलावा वो कन्याएं भी रख सकती हैं, जिनका विवाह तय हो चुका है। लेकिन कुंआरी कन्याओं को चंद्र दर्शन नहीं करने चाहिए। ज्योतिष में चांद प्रेम और प्रसिद्धि का प्रतीक है। यही वजह है कि सुहागिन महिलाएं करवा चौथ के दिन चंद्रमा की पूजा करती हैं, ताकि उनके आशीर्वाद से सारे गुण उनके पति के अन्दर आ जाए। जो महिलाएं बीमारी या किसी अन्य कारण से करवा चौथ का व्रत न कर पाए, उनके पति को यह व्रत करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.