रांची विश्वविद्यालय के सभी कॉलेजों में फ़ायर सेफ्टी नहीं, छात्रों में डर

0

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची  मंगलवार को छात्र नेता आशुतोष द्विवेदी के नेतृत्व में गुजरात के सूरत में आग लगने से क़रीब डेढ़ दर्जन निर्दोष विद्यर्थियों के जान जाने को लेकर संवेदना देते हुए एक प्रतिनिधिमंडल रांची के विभिन्न कॉलेजों का भ्रमण किया। साथ ही रांची विश्वविद्यालय प्रशासन के ख़िलाफ़ अपनी जिम्मेदारी को सुनिश्चित करने को लेकर कुलपति डॉ रमेश पांडेय से मिलकर सभी कॉलेजों में फायर फिटिंग लगाने की मांग की ।

जरूरत उपकरणों को मजबूत करने का दिशा निर्देश

इस अवसर पर छात्र छात्राओं ने कुलपति को सारी खामियां बताई। छात्र छात्राओं ने आक्रोशित होकर एक सप्ताह के भीतर सभी कॉलेजों में फायर फाइटिंग की सुविधा, विकलांग छात्र छात्राओं के लिये विल चेयर की सुविधा, इमरजेंसी गेट बनवाने, cctv को दुरुस्त करने, पार्किंग की सुविधा, जल की प्रयाप्त मात्रा में व्यवस्था आदि कई जरुरी उपकरणों को मजबूत करने का दिशा निर्देश दिया। छात्र छात्राओं ने कहा कि हम शिक्षा के लिये उचित मूल्य देते हैं परंतु हमारी जान की कोई परवाह नहीं है।

इस अवसर पर विद्यर्थियों ने कुलपति से रांची विश्वविद्यालय के सभी कॉलेजों के प्राचार्य को दिशा निर्देश देने की मांग की। राजधानी रांची में लगा तार हो रही आगजनी को लेकर जिम्मेदार बन कर ठोस उपाय करें। कॉलेजों में दिखावा के लिए उपकरण को न करें इस्तेमाल। इसी को लेकर जल्द से जल्द उपकरणों को लगाने को कहा नहीं तो उग्र आंदोलन करेंगे। छात्र छात्राओं ने कहा कि रांची अग्निशमन विभाग इस ओर कड़ा निर्देश ले। क्योंकि जीवन से बड़ा कोई धन नहीं है।

इस अवसर पर मुख्य रूप सौरभ तिवारी, अंकित रंजन, दीपक दुबे, आर्यन गुप्ता, पोली झा, अमितेश श्रीवास्तव, राहुल, काजल, पंकज, नितेश, प्रियंका आदि उपस्थित थे। इस अवसर पर कुलपति डॉ रमेश पाण्डे ने कहा कि छात्रों की सुरक्षा मेरा प्रथम प्राथमिता है ।अपनी जिम्मेदारी को जल्द से जल्द प्रशासन इस कार्य को करेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.