कमाल : 7वीं के छात्र ने तैयार किया वाहन चोरी रोकने वाला APP, पेटेंट का आवेदन किया

0
  • दावा है कि ये सड़क दुर्घटना तथा वाहनों की चोरी रोकने के काम आएंगे

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । महाराष्ट्र के सातवीं कक्षा के एक छात्र ने कुछ APP तैयार किए हैं। उसका दावा है कि ये सड़क दुर्घटना तथा वाहनों की चोरी रोकने के काम आएंगे। वह सिर्फ 12 साल का है। अब तक पेटेंट के लिए चार आवेदन कर चुका है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र के इस प्रतिभावान छात्र बीएस रेवंत नंबुरि से मुलाकात की और उसकी प्रस्तुति को देखा।

गडकरी ने उसकी प्रौद्योगिकी को इस्तेमाल में लाने में हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। रेवंत नागपुर के माउंट लिटेरा जी स्कूल में सातवीं कक्षा में पढ़ता है।

APP को अभी तकनीकी मंजूरी नहीं मिली

रेवंत ने कहा, उसकी प्रौद्योगिकी वृहद स्तर पर लोगों को फायदा पहुंचा सके, यही सोचकर पेटेंट के लिए आवेदन किया गया है ताकि इन्हें सरकार या किसी निजी निकाय को हस्तांतरित किया जा सके। हालांकि इन APP को अभी तकनीकी मंजूरी नहीं मिली है।

APP में यह खासियत

APP में सीट बेल्ट सेंसर, ब्रीथएनालाइजर, हर्ट रेट एनालाइजर और CPU शामिल है, जो सूचनाओं को जमा करता है। अधिकारियों को सावधान करता है।

दूसरा APP क्यूआर कोड पर आधारित है तथा बिना नेटवर्क कनेक्टिविटी के कहीं भी डाटा या दस्तावेज का प्रिंट निकालने की सुविधा देता है। एक अन्य पेटेंट वाहनों की चोरी रोकने से संबंधित है। यह एक की (चाबी) है जिसमें सिम लगा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.