क्या बंद हो गई प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना, अब नहीं मिलेगा मुफ्त अनाज, बढ़ेगा गेहूं का दाम!

0
  • 80 करोड़ लोगों को झटका

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली गेहूं के भाव में लंबे समय के बाद तेजी लौटने के आसार बन रहे हैं। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के जरिये निश्चित मात्रा में गेहूं, चावल और चने की मुफ्त आपूर्ति 30 नवंबर को बंद हो गई। स्थानीय व्यापारियों के मुताबिक इससे गेहूं के भाव को सपोर्ट मिलने की संभावना है।

हालांकि देश के कई हिस्सों में कोविड-19 संक्रमण के मामले एक बार फिर बढ़ने के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि केंद्र सरकार पीडीएस के तहत मुफ्त अनाज वितरण की योजना दिसंबर और उसके बाद भी कुछ महीनों तक जारी रखेगी, लेकिन सोमवार को नवंबर के आखिरी दिन तक इस योजना की अवधि बढ़ाने को लेकर केंद्र सरकार की तरफ से कोई घोषणा नहीं की गई। इसका मतलब है कि दिसंबर से मुफ्त अनाज वितरण की व्यवस्था खत्म हो जाएगी।

गेहूं के भाव बढ़ने शुरू होंगे

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पंजीकृत करीब 80 करोड़ लोगों की मदद के लिए सरकार की तरफ से यह योजना शुरू की गई थी। इसके कारण बाजार में गेहूं की मांग कम हो गई थी, जिसका असर इसके भाव पर नजर आ रहा था। चूंकि अब यह योजना खत्म हो गई है, लिहाजा बाजार में मोटे तौर पर उम्मीद की जा रही है कि गेहूं के भाव बढ़ने शुरू होंगे। सोमवार को गुरु नानक जयंति के मौके पर स्थानीय अनाज मंडी में कामकाज बंद रहा। मंगलवार को बाजार कुछ तेज खुलने की संभावना जताई गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.