बर्ड फ्लू की चपेट में आए कई राज्यों ने जारी किया अलर्ट, केरल में आपदा घोषित, जाने अन्य राज्यों का हाल

0

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । देश में जिस तरह अलग-अलग राज्यों में पक्षियों की मौत के मामले सामने आ रहे हैं। बर्ड फ्लू का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। हरियाणा में एक माह के अंदर ही करीब चार लाख मुर्गियों की मौत हो चुकी है। वहीं, गुजरात के जूनागढ़ में मंगलवार को भी 53 और हिमाचल में 336 और प्रवासी परिंदे मृत मिले हैं। विशेषज्ञ इनकी मौत बर्ड फ्लू के चलते होने की आशंका जता रहे हैं। दोनों ही जगहों पर जांच के लिए पहुंची टीम ने सैंपल ले लिए हैं। वहीं, लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए बाद कर्नाटक, तमिलनाडु और जम्मू-कश्मीर ने भी अपने यहां सैंपल लेने शुरू कर दिए हैं।

बता दें कि राजस्थान में करीब आठ दिन से पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी है। बर्ड फ्लू के कारण प्रदेश में 550 पक्षियों की जान जा चुकी है। वहीं, केरल में करीब 1700 बतखों, मप्र के इंदौर, मंदसौर के बाद अब आगर में भी बर्ड फ्लू के कारण 400 कौओं की मौत हो चुकी है।

अलग-अलग है कौए और मुर्गी का वायरस

मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू (एवियन एंफ्लुएंजा) के वायरस में कोई नया स्ट्रेन (जीन में बदलाव) नहीं मिला है। यह जरूर है कि कौओं में अभी तक बर्ड फ्लू के जिस वायरस की पुष्टि हुई है वह एच5 एन8 है, जबकि मुर्गे-मुर्गियों में अभी तक एच5 एन1 वायरस मिलता रहा है।

हरियाणा में हो रहा रिपोर्ट का इंतजार

हरियाणा में पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डा. सुखदेव राठी ने बताया कि बरवाला के पोल्ट्री फा‌र्म्स में हुई मुर्गियों की मौत के असल कारणों का अभी तक पता नहीं लग पाया है। इस बारे में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। उन्होंने कहा कि मुर्गियों के मरने की संख्या डिप्टी डायरेक्टर पंचकूला से तलब की गई है और पोल्ट्री फार्म प्रबंधकों को एहतियात बरतने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। पंचकूला जिले में लगभग 85 पोल्ट्री फार्म है। जहां से अंडे की सप्लाई पूरे भारत में होती है। कारोबारियों के मुताबिक उन्हें अभी फिलहाल कोई नुकसान नहीं हुआ है।

ठंड हो सकती है मौत का कारण

हरियाणा के पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन के प्रधान दर्शन गर्ग ने कहा कि हमें मुर्गियों के मरने का मुख्य कारण सर्दी लग रहा है। सर्दी के मौसम में अक्सर मुर्गियों की मौत का दर बढ़ होती है, लेकिन फिलहाल सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

नैनीताल चिड़ियाघर में टाइगर व लैपर्ड के मीनू से चिकन व अंडे हटे

बर्ड फ्लू को लेकर सेंट्रल जू अथारिटी ने देश के सभी चिड़ियाघरों को अलर्ट करते हुए एडवाइजरी जारी की है। इसी क्रम में नैनीताल चिड़ियाघर में टाइगर और लैपर्ड समेत वन्यजीवों के मीनू से चिकन व अंडों को फिलहाल हटा लिया गया है। देहरादून चिड़ियाघर प्रबंधन ने भी बदले हालात में पक्षियों व वन्यजीवों की सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.