प्रेमी-प्रेमिका ने मकान मालिक के 12 साल के बच्चे का किया अपहरण, आरोपी हुए गिरफ्तार

0

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची लालपुर थाना क्षेत्र स्थित केएम मल्लिक रोड में रहने वाले प्रेमी जोड़े ने मकान मालिक के 12 साल के बच्चे का अपहरण कर लिया। पुलिस ने प्रेमी जोड़े को गिरफ्तार कर बच्चे को भी सकुशल बरामद कर लिया। फिलहाल, पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है।

रमेश कुमार के मकान में रहने वाले रमन कुमार ने शनिवार की देर रात उनके 12 साल के बच्चे वैभव राज का अपहरण कर लिया। इस काम में रमन की प्रेमिका ने भी उसका साथ दिया। बच्चे के अचानक गायब हो जाने और काफी खोजबीन के बाद भी जब वैभव के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली तो उसके पिता रमेश कुमार ने घटना की जानकारी पुलिस को दी और मामले में अपहरण की बात करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई।

पुलिस को दिए आवेदन में रमेश ने अपने घर में किराए पर रहने वाले युवक रमन कुमार पर संदेह जताते हुए अपहरण की घटना में शामिल होने की आशंका जताई थी। इसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई और किराए पर रहने वाले युवक रमन के बारे में जानकारी जुटाकर उस से संपर्क करने का प्रयास करने लगी।

काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने शनिवार की देर रात रमन को पकड़ा, लेकिन उसके पास से अपहृत बच्चा बरामद नहीं हो पाया। पुलिस ने जब सख्ती से रमन से पूछताछ की तो उसने बच्चा के अपहरण किए जाने की बात को स्वीकार किया। इसके बाद आरोपी रमन की निशानदेही पर पुलिस ने सदर थाना क्षेत्र स्थित मदन ढाबा के पीछे किराए पर लिए गए एक अन्य घर से बच्चा को बरामद कर लिया। जिस कमरे में बच्चा को रखा गया था वहां आरोपी रमन की प्रेमिका भी मौजूद थी और वह लगातार बच्चे पर नजर बनाए हुए थी।

गिरफ्तार आरोपी रमन बिहार के सासाराम का रहने वाला है, जबकि उसकी प्रेमिका जमुई की रहने वाली है। पुलिस ने बच्चा को बरामद करते हुए आरोपी रमन की प्रेमिका को भी गिरफ्तार कर लिया। बरामद किए गए अपहृत बच्चे को उसके परिजनों को सौंप दिया गया है। फिलहाल पुलिस गिरफ्तार दोनों आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है।

फोन करने पर आरोपी ने बिहार अपने घर जाने की कही थी बात

अपहृत बच्चे के पिता रमेश कुमार ने पुलिस को बताया है कि रविवार को ही आरोपी ने उनके घर से किराए पर लिया गया कमरा को छोड़कर सदर इलाके में चला गया था। दोपहर के बाद से उनका बेटा वैभव भी गायब था। काफी खोजबीन के बाद भी जब वैभव के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली तो उसने रमन के फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया।

कई बार प्रयास किए जाने के बाद भी उसका मोबाइल बंद बता रहा था। इसके बाद उसने रमन के वॉट्सएप नंबर पर कॉल किया, जिसके बाद रमन ने बताया कि वह विहार स्थित अपने घर जा रहा है। कुछ दिनों बाद वापस लौटेगा। बच्चा के संबंध में पूछे जाने पर रमन ने पूरी तरह से अनभिज्ञता जाहिर करते हुए बताया था कि बच्चा के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। पुलिस के सक्रिय होने के बाद रमन रांची में ही मिला जिसके बाद बच्चे को उसके पास से बरामद किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.