अब निजी इंटर कालेजों की नियुक्तियों में नहीं चलेगा पैसा-पैरवी का खेल, बन रही इंटर कालेज शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी नियुक्ति नियमावली

0

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची वित्त रहित इंटरमीडिएट कालेजों में शिक्षकों (व्याख्याता) व अन्य पदों पर नियुक्ति में अब न तो कालेज प्रबंधन की मनमानी चलेगी और न ही किसी भी स्तर से भाई-भतीजावाद तथा पैसा-पैरवी का खेल ही चलेगा। इन पदों पर होनेवाली नियुक्ति में अब राज्य सरकार तथा झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) की भी भागीदारी रहेगी। नियुक्ति में गड़बड़ी रोकने के लिए पहली बार इंटर कालेज शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी नियुक्ति नियमावली-2020 गठित की जा रही है।

नियमावली में शिक्षकों एवं अन्य पदों पर नियुक्ति की शर्तें तय कर रही है

राज्य सरकार प्रस्तावित नियमावली में शिक्षकों एवं अन्य पदों पर नियुक्ति की शर्तें तय कर रही है। कालेजों में नियुक्ति शासी निकाय द्वारा ही होगी, लेकिन इसे लेकर जारी होने वाले विज्ञापन के प्रारूप पर जैक से अनुमोदन लेना होगा। साथ ही नियुक्ति को लेकर गठित होनेवाले साक्षात्कार बोर्ड में संबंधित प्रमंडल के क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक द्वारा नामित एक पदाधिकारी तथा जैक द्वारा नामित एक-एक विषय विशेषज्ञ को रखना अनिवार्य होगा। इनके अलावा शासी निकाय द्वारा नामित तीन विषय विशेषज्ञ भी बोर्ड में शामिल होंगे, जिनमें एक एससी, एसटी तथा महिला का होना अनिवार्य होगा। इतना ही नहीं, नियुक्ति पर जैक का अनुमोदन लेना अनिवार्य होगा।

बताया जाता है कि नियमावली बनने से कालेजों में लगभग दो हजार पदों पर बहाली हो सकेगी। पहली बार यह भी व्यवस्था की जा रही है कि किसी शिक्षक या अन्य कर्मी पर कालेज प्रबंधन निलंबन, बर्खास्तगी या अन्य कोई दंडात्मक कार्रवाई करता है तो इससे जुड़ी सारी जानकारी दस्तावेज के साथ जैक को देनी होगी। तीन माह से अधिक निलंबन की कार्रवाई के मामले में भी जैक की अनुमति लेनी होगी। नियमावली में कार्रवाई के विरुद्ध जैक में अपील का भी प्रविधान किया गया है। जैक इसपर अंतिम निर्णय लेगा।

बीएड अनिवार्य, पर 15 साल से काम करनेवाले को छूट

वित्त रहित इंटर कालेजों में शिक्षक (व्याख्याता) नियुक्ति के लिए बीएड उत्तीर्ण होना अनिवार्य होगा। हालांकि नियमावली लागू होने की तिथि तक 15 वर्ष की सेवा पूर्व कर चुके अप्रशिक्षित शिक्षकों को बीएड के प्रशिक्षण की बाध्यता से छूट देने की बात कही गई है। शिक्षक नियुक्ति के लिए स्नातकोत्तर में न्यूनतम 50 फीसद (अनुसूचित जाति व जनजाति 45 फीसद) अंक अनिवार्य होगा। नियुक्ति में अभ्यर्थियों के शैक्षणिक व अनुभव के आधार पर अधिकतम 60 अंक तथा साक्षात्कार में 40 अंक देय होंगे।

कालेजों में कंप्यूटर व शारीरिक शिक्षक के भी होंगे पद

कालेजों में प्राचार्य तथा व्याख्याता के अलावा शारीरिक शिक्षा अनुदेशक, पुस्तकाध्यक्ष, कंप्यूटर अनुदेशक के भी पद होंंगे। वहीं, शिक्षकेत्तर कर्मियों में प्रयोगशाला सहायक, प्रयोगशाला वाहक, प्रधान लिपिक, लिपिक सह टंकक, लेखापाल, रोकड़पाल, आदेशपाल तथा स्वीपर के पद होंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.