SMS से मिलेगी जानकारी, कब और कहां लगेगा कोरोना का टीका

0

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच वैक्सीन को लेकर दुनियाभर में हलचल बढ़ गई है। भारत में भी इस बात की तैयारियां शुरू हो गई हैं कि वैक्सीन आई तो इतनी बड़ी आबादी तक कैसे पहुंचाया जाएगा। खबर है कि सरकार एक SMS व्यवस्था तैयार कर रही है। इसके तहत कोरोना की दवा फैक्टरी से निकलने से लेकर मरीज को टीका लगाए जाने तक उसकी ट्रैकिंग की जाएगी। यह काम स्वदेशी इंटेलीजेंस नेटवर्क से किया जाएगा। हर शख्स को एमएमएस कर बताया जाएगा कि उसे किस दिन टीका लगाया जाएगा और कहां उसका टीकाकरण सेंटर है। इस तरह देश के करोड़ों बच्चों तक हर साल सुरक्षित वैक्सीन पहुंचाने के लिए तैयार प्लेटफार्म अब हर व्यक्ति तक कोरोना की वैक्सीन की डिलीवरी भी सुनिश्चित करेगा। इसमें डिजिटल माध्यमों की पूरी मदद ली जाएगी।

स्वास्थ्य मंत्रालय भी एक्शन में

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इस दिशा में प्लानिंग शुरू कर दी है। एक अधिकारी के अनुसार, राज्यों से प्राथमिकता वाले लोगों की सूची देने को कहा है, जिन्हें सबसे पहले वैक्सीन दी जाएगी। इनमें कोरोना के इलाज से जुड़े स्वास्थ्य कर्मी, उनकी देखभाल से जुड़े कर्मचारी, सुरक्षा कर्मी शामिल हैं।

सरकार ने कोल्ड चेन को मेनटेन करने की तैयारी शुरू कर दी है। संभावना कि आक्सफोर्ड यूनिविर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही वैक्सीन भारत में आएगी। इस वैक्सीन को ब्रिटेन की फॉर्मा कंपनी एस्ट्रेजेनिका भारत के सीरम इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर तैयार कर रही है। इसके अलावा भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को भी सरकार मंजूरी दे सकती है।

यूपी में पहले चरण में 4 करोड़ टीके

त्तर प्रदेश में पहले चरण में 4 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगाने की तैयारी हो रही है। प्रदेश में अभी करीब 80 हजार लीटर वैक्सीन रखने की व्यवस्था है। अब 1.23 लाख लीटर वैक्सीन रखने की और व्यवस्था की जा रही है। इस तरह कुल 2.03 लाख लीटर वैक्सीन रखने की व्यवस्था दिसंबर तक हो जाएगी। रुटीन के अन्य टीकाकरण अभियान के अलावा कोरोना से बचाव के लिए पहले चरण में 4 करोड़ लोगों को आराम से टीके लगाए जा सकेंगे। इसके लिए योगी सरकार की अगुवाई में तेजी से संसाधन जुटाए जा रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.