8 दिसंबर को भारत बंद : किसानों को मिला विभिन्न विपक्षी पार्टियों का समर्थन

0

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों द्वारा आठ दिसंबर को बुलाए भारत बंद का विभिन्न विपक्षी पार्टियों ने समर्थन किया है। किसानों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए कुछ पार्टियों ने देश के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन भी किया।

आल इंडिया किसान फेडरेशन के अध्यक्ष प्रेम सिंह ने बताया कि आठ दिसंबर को जबर्दस्त भारत बंद होगा। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि एमएसपी और एपीएमसी एक्ट के बिना बिहार में किसान परेशानी में हैं और अब पूरे देश को कुएं में धकेल दिया गया है। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री से कहा कि वह किसानों के धैर्य का इम्तिहान न लें। राजद, तृणमूल कांग्रेस, वामपंथी दलों और दस केंद्रीय श्रमिक संघों के संयुक्त मंच ने भी बंद का समर्थन किया है। जबकि द्रमुक नेता एमके स्टालिन ने तमिलनाडु में विरोध प्रदर्शन किया।

सिंघु बार्डर पर सैनिटाइजेशन शुरू, किसान कर रहे सफाई

सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन के चलते फैली गंदगी की सफाई का काम शुरू कर दिया है। साथ ही सैनिटाइजेशन का काम भी कराया जा रहा है। कूड़ों की सफाई का कार्य आंदोलन में शामिल लोग कर रहे हैं, जबकि स्वास्थ्य विभाग की टीमें सैनिटाइजेशन कर रहीं हैं। शनिवार को धरना स्थल पर हाथों में झा़़डू लिए किसानों को जगह–जगह गंदगी की सफाई करते देखा गया। ऐसे में अन्य दिनों की तुलना में शनिवार को यहां कम गंदगी फैली नजर आई। स़़डकों पर जहां–तहां फेंके गए कू़़डों को एकत्रित कर किनारे लगा दिया गया था। उन्हें वहां से हटाने का काम भी चल रहा था।

धरना स्थल ब़़डी संख्या में लोगों की मौजूदगी से संक्रमण का खतरा

उधर, सैनिटाइजेशन में जुटीं स्वास्थ्य विभाग की टीमों में शामिल डाक्टर किसानों से कूड़ा जहां-तहां न फेंकने की अपील कर रहे थे। साथ ही वे किसानों को मास्क लगाने के लिए भी प्रेरित कर रहे थे। अमृतसर से आई स्वास्थ्य टीम में शामिल करनजोत सिह, जसकरनदीप सिह आदि को सिंघु बॉर्डर पर मशीन से सैनिटाइजेशन करते देखा गया। उन्होंने बताया कि धरना स्थल ब़़डी संख्या में लोगों की मौजूदगी से संक्रमण का खतरा है। ऐसे में उन्होंने यहां पहुंचकर यह काम शनिवार से शुरू किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.