IMF ने आगामी वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था के 11.5% ग्रोथ का अनुमान लगाया

0

दैनिक झारखंड न्यूज

नई दिल्ली । भारतीय अर्थव्यवस्था के वित्त वर्ष 2021 में काफी तेजी से रिकवर करने की उम्मीद है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने अपनी ताजा वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट में यह दर्शाया है। आईएमएफ ने वित्त वर्ष 2021 के लिए भारत की अर्थव्यवस्था के सबसे तेज 11.5 फीसद की रफ्तार से ग्रोथ करने की उम्मीद जताई है। इस तरह भारत साल 2021 में सबसे अधिक तेजी से ग्रोथ करने वाला देश बन सकता है। इससे पहले आईएमएफ ने अपनी अक्टूबर में जारी रिपोर्ट में वित्त वर्ष 2021 के लिए 8.8 फीसद की ग्रोथ रेट का अनुमान व्यक्त किया था।

वहीं, आईएमएफ ने वित्त वर्ष 2020 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ (-)8 फीसद रहने का अनुमान व्यक्त किया है। इससे पहले आईएमएफ ने वित्त वर्ष 2020 के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट (-) 10.3 फीसद रहने का अनुमान व्यक्त किया था। साथ ही आईएमएफ ने वित्त वर्ष 2022 के लिए भारत की जीडीपी में 6.8 फीसद की ग्रोथ रहने की उम्मीद जताई है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने रिपोर्ट में बताया कि उन्होंने साल 2021 के लिए वैश्विक ग्रोथ 5.5 फीसद रहने का अनुमान लगाया है। साथ ही आईएमएफ ने कहा कि यह वायरस और वैक्सीन के आउटकम पर अधिक निर्भर करेगा।

आईएमएफ ने साल 2021 के लिए जिन अर्थव्यवस्थाओं की ग्रोथ का अनुमान जारी किया है, उनमें सबसे अधिक ग्रोथ अनुमान भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए ही है। साल 2021 में आईएमएफ ने यूएस के लिए 5.1, जापान के लिए 3.1, यूके के लिए 4.5, चीन के लिए 8.1, रूस के लिए 3.0, और सऊदी अरब के लिए 2.6 फीसद जीडीपी ग्रोथ रहने का अनुमान व्यक्त किया है।

आईएमएफ ने साल 2022 के लिए यूएस की अर्थव्यवस्था में 2.5 फीसद ग्रोथ रहने का अनुमान व्यक्त किया है। इसके अलावा आईएमएफ ने साल 2022 के लिए फ्रांस की अर्थव्यवस्था में 4.1 फीसद, इटली में 3.6 फीसद, स्पेन में 4.7 फीसद, जापान में 2.4 फीसद, यूके में 5 फीसद, कनाडा में 4.1 फीसद, चीन में 5.6 फीसद, सऊदी अरब में 4 फीसद, ब्राजील में 2.6 फीसद और दक्षिणी अफ्रीका में 1.4 फीसद की ग्रोथ रहने का अनुमान जताया है।

पिछले साल, अर्थात साल 2020 की बात करें, तो आईएमएफ ने यूएस की अर्थव्यवस्था में -3.4 फीसद ग्रोथ रहने का अनुमान व्यक्त किया है। इसके अलावा आईएमएफ ने साल 2020 के लिए फ्रांस की अर्थव्यवस्था में -9.0 फीसद, इटली में -9.2 फीसद, स्पेन में -11.1 फीसद, जापान में -5.1 फीसद, यूके में -10 फीसद, कनाडा में -5.5 फीसद, चीन में 2.3 फीसद, सऊदी अरब में -3.9 फीसद, ब्राजील में -4.5 फीसद और दक्षिणी अफ्रीका में -3.9 फीसद की ग्रोथ रहने का अनुमान जताया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.