राज्‍यपाल ने मोरहाबादी मैदान में किया ध्‍वजारोहण, युवाओं से कहा-कैलेंडर के अनुसार होंगी JPSC की परीक्षाएं

0

दैनिक झारखंड न्यूज

रांची झारखंड की राजधानी रांची में गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह आयोजित किया गया। इसमें राज्‍यपाल द्रौपदी मुर्मू ने ध्‍वजारोहण किया। इसके पहले उन्होंने परेड का निरीक्षण किया। परेड के साथ विभिन्‍न विभागों की झांकी भी निकाली गई। हालांक‍ि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कार्यक्रम को छोटा रखा गया था। परेड में स्कूली बच्चों और NCC कैडेट्स को शामिल नहीं किया गया था। इसके साथ ही दर्शक दीर्घा में 50 प्रवेश से अधिक उम्र के लोगों का प्रवेश भी प्रतिबंधित था। गणतंत्र दिवस के संबोधन की शुरुआत भी राज्यपाल ने कोरोना महामारी में राज्यवासियों के अनुशासन और कोरोना योद्धाओं के धैर्य से किया।

कैलेंडर के अनुसार आयोजित होंगी JPSC की सभी परीक्षाएं

झंडारोहण के बाद राज्‍यपाल ने कहा कि झारखंडवासियों के धैर्य और अनुशासन के साथ, कोरोना योद्धाओं के सहयोग से झारखंड में कोरोना महामारी का कुप्रभाव काफी हद तक कम किया गया है। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि अब JPSC की सभी परीक्षाएं कैलेंडर के अनुसार आयोजित की जाएंगी।

महिला सुरक्षा के लिए प्रखंड मुख्यालय में उज्जवला होम की स्थापना होगी

राज्यपाल ने कहा कि सरकार महिला सुरक्षा के प्रति सजग और गंभीर है। 181 हेल्पलाइन से हिंसा से पीड़ित महिलाओं को अविलंब सहायता प्रदान की जाएगी। महिलाओं के अवैध एवं अनैतिक व्यापार की रोकथाम के लिए प्रमंडल मुख्यालयों में उज्ज्वला होम की स्थापना होगी।

अल्बर्ट एक्का के योगदान को दिखाकर IPRD की झांकी बनी अव्वल

विभिन्‍न विभागों की झांकी निकाली गई। झांकी के माध्‍यम से विभिन्‍न विभागों ने अपनी उपलब्धियां और राज्‍य की गौरवमय तस्‍वीर पेश की। इस दौरान लगभग 10 विभागों की झाकियां निकाली गई। इनमें सूचना जनसंपर्क विभाग की झांकी को पहला पुरस्कार मिला। इसमें परमवीर चक्र विजेता शहीद लांसनायक अल्बर्ट एक्का के योगदान को दिखाया गया था। दूसरा पुरस्कार पेयजल स्वच्छता विभाग की झांकी को मिला। इसमें जल जीवन मिशन योजना को दिखाया गया। जबकि तीसरा पुरस्कार परिवहन विभाग की झांकी को मिला, सड़क दुर्घटना से बचाव का संदेश दिखाया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.